एसएसपी झांसी को लिखी चिट्ठी से क्या कहना चाहते हैं बबीना विधायक ‘राजीव सिंह पारीछा’ ?

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp

झांसी। भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता और झांसी की बबीना विधानसभा से विधायक राजीव सिंह पारीछा अब खुद मान चुके हैं कि उनकी विधानसभा में जुआ, सट्टा, अवैध शराब के साथ कई गैरकानूनी काम हो रहे हैं। जिसको लेकर भाजपा विधायक ने एसएसपी को एक पत्र लिखा है, और इस पत्र में ऐसे लोगों पर नकेल कसने की भी बात की है।
बबीना विधायक राजीव सिंह पारीछा ने एसएसपी को विगत दिनों दिए एक पत्र में बताया कि लोकसभा चुनाव के बाद उनके संज्ञान में आया कि उनकी विधानसभा क्षेत्र के कई थाना क्षेत्रों में जमकर जुआ और सट्टा चल रहा है। यही नहीं उन्होंने अवैध शराब बेचे जाने की भी खुलकर बात की, और इसको लेकर एसएसपी झांसी डॉ ओपी सिंह को एक पत्र भी लिखा है।

और कौन-कौन आएगा सामने?

वैसे तो पूरे झांसी में अवैध कारोबार धड़ल्ले से चल रहे हैं, और पुलिस भी लगातार कार्यवाही कर रही है, लेकिन पहली बार सत्ताधारी दल के विधायक ने खुलकर सामने आते हुए पत्र के माध्यम से अपनी विधानसभा में हो रहे गैरकानूनी कामों पर तत्काल रोक लगाने की मांग की है।

अवैध खनन के खिलाफ ब्रजेश प्रजापति भी उतर चुके सड़क पर

आपको बता दें कि बीते दिन ही बुंदेलखंड के ही एक विधायक बृजेश प्रजापति ने अवैध खनन के खिलाफ खुलकर सामने आते हुए सड़क पर आ गए थे। और उन्होंने इसका विरोध जताते हुए अवैध खनन पर तत्काल रोक लगाने के लिए उच्चाधिकारियों से बहस भी की थी।

अफसर न पनपने दें मेरी विधानसभा में अपराध

इससे साफ है कि बुंदेलखंड में हो रहे छोटे बड़े अपराधों के लिए सत्ताधारी दल के विधायक भी खुलकर सामने आ रहे हैं, और उन पर तत्काल नकेल कसने के लिए अफसरों पर भी पूरा दबाव बनाने का प्रयास कर रहे हैं। ताकि उनकी विधानसभा में किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी ना हो और ना ही इससे सरकार की छवि खराब हो।

अब मेरा नाम लेकर अवैध काम करने वालों को खेर नहीं?

अब देखना यह है कि राजीव सिंह पारीछा और बृजेश प्रजापति के अलावा और कौन कौन विधायक अपनी विधानसभा में हो रहे अपराधों के खिलाफ खुलकर सामने आते हैं या फिर अपनी विधानसभा में कोई भी गलत काम ना होने का झूँठा ढिंढोरा पीटने वाले यूपी में हो रही बड़ी बड़ी घटनाओं के बाद भी चुप बैठे रहेंगे।
गौरतलब है कि विधायकों के संपर्क में रहने वाले कुछ लोग उनका नाम लेकर कई गैरकानूनी और आपराधिक काम को अंजाम देने में जुटे हुए हैं। जबकि इन गतिविधियों की जानकारी स्वयं विधायक तक को नहीं है। कुछ ऐसा ही मामला झांसी में चल रहा है। जो दवे मुंह सोशल मीडिया के जरिए बाहर निकल कर आ रहा है। जिसके बाद शायद राजीव पारीछा ने यह कदम उठाया कि वह किसी को भी ऐसे आपराधिक काम करने का संरक्षण नहीं दिए हैं, और यदि कोई उनका नाम लेकर ऐसे गलत काम कर रहा है तो वह उसका अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहें।

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp