महोबा में शराब गांजे की बिक्री को लेकर ग्रामीणों ने खोला मोर्चा, महिलाओं ने भी पकड़ीं तख्तियां

खन्ना (महोबा) नशे के वशीभूत होकर युवा पीढ़ी के भविष्य की बर्बादी को देखकर जहां कई युवाओ की जान चली गई, और कई माताओं के सुहाग छिन गए. जैसी तबाही को लेकर थाना खन्ना क्षेत्र के ग्राम सिरसी कला में आज पुरुष व महिलाओं ने सामूहिक रुप से नशा विरोधी अभियान की जंग छेड़ी, और नशा विरोधी अभियान के तहत तख्ती बैनर लेकर अवैध शराब गांजा कारोबारियों के खिलाफ गांव में जुलूस निकाल कर ग्रामीणों को जागरूक किया.

यह जुलूस गांव के किनारे बस स्टैंड के पास बने मदरसे से जुलूस का शुभारंभ किया. जुलूस नशा विरोधी नारे लगाते हुए सभी को जागरूक करते हुए पूर्व प्रधान ईश्वरी प्रसाद तिवारी के दरवाजे से होकर दलित बस्ती से होते हुए सपेरा डेरा काली माई मंदिर प्राथमिक विद्यालय से होकर गांव की हर गली गली में नशा मुक्त समाज अवैध नशा कारोबारियों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए

“बिक गई नथुनिया बलमवा मिल गयो शराबी”

मेन रोड बस स्टैंड में जुलूस का समापन हुआ. जुलूस में ग्राम के प्रधान कौमी एकता के प्रतीक समाजसेवी रहीम अली की अगुवाई में सभी पुरुष महिलाएं एकजुट होकर के जुलूस निकाला. उक्त गांव में कई वर्षों से शराब के ठेकेदार गांव में शाखाएं खोलकर परचून की दुकानों में शराब गांजा बिकवाने का काम कर रहे हैं. जिसकी सूचना समय-समय पर स्थानीय पुलिस को ग्रामीणों द्वारा अवगत कराया जा चुका है, लेकिन पुलिस सब कुछ जानते हुए भी अनजान बनी हुई है. इसलिए गांव के पुरुषों महिलाओं ने स्वयं भी होकर गांव में अवैध शराब गांजा कारोबारियों को जड़ से उखाड़ने की ठान ली है.

गांव की सुदामा वर्मा सुखदेइया कुशवाहा संगीता प्रजापति ने संयुक्त रुप से बताया कि शराब के ठेकेदार अपने गुर्गों से सांठगांठ बनाकर थाना क्षेत्र के गांव में अपनी शाखाएं बनाकर अवैध शराब की बिक्री करवा रहे हैं. जो बिना किसी भय के परचून वह कोल्डड्रिंक की दुकानों में बिना किसी भय के धड़ल्ले से शराब की बिक्री की जा रही है. जिससे हमारे समाज की युवा पीढ़ी बर्बादी की ओर जा रही है. शराब से कई परिवार बर्बाद हो चुके हैं और दर्जनों युवा काल के गाल में भी समा गए इसलिए हम सभी ग्रामीणों ने यह निश्चय किया है, कि हमारे गांव में अवैध शराब की बिक्री नहीं होने देंगे. गली-गली दुकानों में अवैध शराब बिकने व हर समय उपलब्ध होने से गांव की युवा पीढ़ी बर्बाद हो रही है.

उक्त जुलूस में समाजसेवी रामसेवक प्रजापति (सागर), कृष्ण पाल सिंह, कारेलाल कुशवाहा, राधेश्याम पाल, राज बहादुर पाल, रामप्यारे प्रजापति, देव शरण प्रजापति, शारदा प्रसाद कुशवाहा, सुशील वर्मा, हनुमान शरण गुप्ता, रामबालक शर्मा सुदामा वर्मा सुख दे या संगीता निषाद अप्रोच निषाद विभा सिंह कुरेशा बानो आदि सैकड़ों युवा महिला पुरुषों शामिल रहे।

रिपोर्ट : जय प्रकाश कुशवाहा

Bitnami