झाँसी के इस कस्बे में जल संकट गहराया

कटेरा (झाँसी) भीषण गर्मी ने दस्तक भी दी है और कस्बा कटेरा में जल संकट गहरा गया है। झाँसी जनपद के कटेरा कस्बा की जनता जल संकट से जूझ रही है। लगभग पूरा एक माह इसी आस में गुजर गया कि शायद स्थानीय प्रशासन कोई हल निकालेगा।

लेकिन कस्बे के लोग पानी के लिए भटक रहे हैं और जिम्मेदार इस ओर कोई पहल करते नजर नहीं आ रहे हैं। गर्मी के आगमन के पूर्व पेयजल प्रबंधन बेहद जरूरी होना चाहिए पर कटेरा क्षेत्र के दर्जनों हैंडपंप खराब व नगर पंचायत की जानकारी में बंद पड़े है। इनको चालू रखने संबंधित विभाग व स्थानीय प्रशासन ने कोई कारगर प्रबंध नहीं किए है जिसमे गांव के लोग पानी के लिए परेशान हो रहे हैं।

पानी के लिए कतारे

भीषण जल संकट के चलते कस्बे के लोग पानी के लिए भटक रहे है। पानी के लिए कतारे लगी रहती है। पानी की कमी गांव के नलों तक में दिखाई दे रही है।

पानी की कमी इस कदर है कि नल भी पानी की जगह हवा उगलने लगे है। कस्बे में बनी पानी की टंकी शोपीस बनकर रह गई है। अभी तो गर्मी के शुरूआत है आगे क्या होगा इसको लेकर लोग परेशान है।

कटेरा निवासी रामभरोसे सोनी, मोहनलाल आर्य, राजेन्द्र जैन, रामदास राजपूत, संजीव डेंगरे, जग्गी नीखरा, दिनेश सोनी, राजकुमार जैन, दिनेश साहू, शिवशंकर सोनी, विक्रम बुन्देला, नीरज डेंगरे ने जल संस्थान के ऊपर आरोप लगाया कि पूरे कस्बा में पेयजल के लिए गर्मी की शुरूआत के साथ ही हा हाकर मचने लगती है। गर्मी में हमे पेयजल के लिए यहां वहां भटकना पड़ता है। बावजूद इसके निराकरण पर कोई अमल नहीं किया जा रहा है। कस्बा वासियो ने जल्द ही इस समस्या निराकरण की मांग की है।

रिपोर्ट- भूपेन्द्र गुप्ता

Bitnami