सेना के नाम पर वोट मांगने पर नरेंद्र मोदी के खिलाफ शिकायत चुनाव आयोग से गायब

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp

लोकसभा चुनाव चल रहे हैं। कहीं पर मतदान हो चुके हैं, तो कहीं पर होने वाले हैं। इस दौरान कई नेताओं की ऊंट पटांग बयान भी देखने और सुनने को मिले हैं। जिनमें आजम खान, मायावती, योगी आदित्यनाथ समेत और भी कई बड़े नेता शामिल हैं। इन पर चुनाव आयोग ने कई घंटों का बेन भी लगाया था। इस दौरान नेताओं के मुंह पर चुनाव आयोग ने ताला लगाने का काम किया था।

इन्हीं शिकायतों को जोड़कर चुनाव आयोग के पास अब तक 445 शिकायतें दर्ज हो चुकी है। और यह संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में एक शिकायत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ भी चुनाव आयोग के पाले में पहुंची, लेकिन कहा जा रहा है कि अब यह शिकायत अचानक गायब हो गई है। चुनाव आयोग ने इस पर कार्यवाही करने के बजाय इसे सुलझा दिया है और अब इसका सारा स्टेटस ही गायब कर दिया है।

क्यों की गई मोदी की शिकायत?

यह शिकायत चुनाव आयोग से इसलिए की गई थी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शहीदों के नाम पर वोट मांगे थे, यही वजह है कि प्रधानमंत्री के इस बयान को शिकायत के रूप में चुनाव आयोग को भेजा गया था।

क्या कहा था पीएम मोदी ने?

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि “जिस प्रकार हम अपने जीवन की पहली कमाई अपनी मां या अपने आराध्य देव को समर्पित करते हैं. उसी प्रकार आप लोग भी अपने जीवन का पहला वोट “एयर स्ट्राइक” करने वाले जवानों और पुलवामा के शहीदों को समर्पित कर सकते हैं क्या?”

इन्होंने की थी नरेंद्र मोदी की शिकायत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर कोलकाता में रहने वाले महेंद्र सिंह ने चुनाव आयोग से शिकायत की थी। एक रिपोर्ट के मुताबिक चुनाव आयोग की वेबसाइट पर शिकायत का स्टेटस मिसिंग दिखा रहा है

क्या बोले मोदी की शिकायत करने वाले?

महेंद्र सिंह के मुताबिक जब उन्होंने चुनाव आयोग की वेबसाइट पर यह शिकायत का स्टेटस चेक करना चाहा तो पता चला कि शिकायत की सुनवाई हो चुकी है और मामला भी सुलझाया जा चुका है।

उधर चुनाव आयोग के मुताबिक वेबसाइट पर शिकायत के साथ लिखा हुआ आना चाहिए था “जानकारी आगे चुनाव आयोग हेड क्वार्टर में पहुंचाई जा चुकी है”
लेकिन लिखा था कि “मामला सुलझाया जा चुका है”

महाराष्ट्र के मुख्य चुनाव अधिकारी ने इस मामले से जुड़े अधिकारियों से जवाब तलब किया है. इस मामले में पहले चुनाव आयोग के अधिकारी ने यह बात कही थी कि वेबसाइट पर जो शिकायत का स्टेटस है उसमें टेक्निकल ग्लिच है। लेकिन फिर स्टेटस ही गायब मिला.

क्या हैं चुनाव आयोग के निर्देश

आपको बता दें कि चुनाव आयोग पहले ही कह चुका हैकि सेना का किसी भी तरह की राजनीति में इस्तेमाल नहीं किया जाए। इसके बावजूद भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी रैलियों में पुलवामा हमले का जिक्र किया और शहीदों और एयर स्ट्राइक का भी जिक्र किया। चुनाव की वेबसाइट पर शिकायतों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है और कार्यवाही की रफ्तार भी बढ़ती जा रही है। अगर गौर करेंगे तो मायावती के खिलाफ 4 घंटे के भीतर कार्यवाही की गई। इसके अलावा नवजोत सिंह सिद्धू, योगी आदित्यनाथ, के ऊपर की शिकायतों के 4 दिन के भीतर कार्रवाई हुई पीएम मोदी के खिलाफ शिकायत किये जाने के बाद भी कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई। जिससे चुनाव आयोग पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

आप हमें कमेंट करके हमारी खबर के बारे में अपनी राय रख सकते हैं। और यदि आपको हमारी ये ख़बर अच्छी लगी हैं, और ऐसीं खबरें आप पढ़ना चाहते हैं तो आप हमारा फेसबुक पेज Action News India को लाइक कर सकते हैं। यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं। और ट्विटर पर हमें फॉलो कर सकते हैं। ताकि तभी हमारी सारी खबरें आप तक तत्काल पहुंचे, और आप उनका आनंद उठा सकें

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp