पालिका पार्षद,कर्मी हर दिन करते अवैध वसूली पुनः स्मारक पत्र दिया

Action news india एक्शन न्यूज़ इंडिया
Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp

मऊरानीपुर (झांसी) पक्ष हो या विपक्ष मतलब इससे नही, मतलब इस बात से है कि किस तरह सत्ता के जरिये पैसे कमायें जाये ऐसे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हर सही प्रयास को उनके अपने और सम्बंधित ऐजेंसी पलीता लगाये है जिससे सरकार की छवि धूमिल हो रही है।

मुख्यमंत्री के नाम दिये पत्र में नगरपालिका के नाम पर चल रही जन प्रतिनिधियों एवं कर्मियों द्वारा की जा रही अवैध वसूली के खिलाफ मोर्चा खोलते हुये वाहन चालकों ने बताया कि फर्जी रसीद पर्ची थमा कर जबरन पैसे लिये जा रहे है, किसी को तो रसीद भी नही दी जाती। बताया कि इससे पहले भी प्रशासन को अवगत कराया गया था, लेकिन शिकायत ठंड बस्ते में डाल दी गई मामले की जांच तक नही हुई। लोडर चालकों से लेकर अन्य वाहनों के चालक अखलेश, सिकंदर, मुबारक, असगर अली, पवन कुमार, अरविंद, गोबिंद, रबि, रविन्द्र, महेन्द्र, प्रेम साहू, महेश साहू, भोजपाल, रवि वर्मा, फीरोज, प्रेमनारायण, सोनू, शंकर, कालू, अरविंद, अखिलेश, जितेन्द्र साहू, राकेश, महेश, गोरेलाल, गोबिंद, कल्लू, बंटी, रमधू, फूलचंद्र, मोनू, महेन्द्र, मुहम्मद, मनसुख डी.जे., संदीप बडागांव, नंदू, धर्मेन्द्र, रमले, प्यारे, मुकेश, खच्चू, गोलू यादव, राजीव मोर, सलीम आदि ने बताया कि नगर में लोडर टैक्सी सहित अन्य वाहन खडा करने का स्थान न होने से वह झलकारी बाई प्रतिमा एवं नवीन मेला ग्राउण्ड पर अपने वाहनों से भाडे का काम कर परिवार का भरण पोषण करते है, आरोप लगाया कि पालिका के चार जनप्रतिनिधि, कर्मियों के साथ के खुलेआम गुण्डागिर्दी के बल पर साजिश के तहत जबरन मनमानी वसूली कर रहे है, आर्थिक अपराध श्रेणी के उक्त कृत्य में पालिका कर्मी लिप्त है, बताया कि गत 7 मई की दोपहर लोडर चालक वाहन सहित खडे थे,तभी चारों ने उक्त हरकत की, मामले की शिकायत के बाद कार्यवाही न होने पर पुनः 22 मई को सभी बाइक से आये व शुल्कः के नाम पर पैसे वसूले, बताया कि उक्त अवैध उगाही हर दिन हो रही है जिससे वह परेशान होंकर थाने में रिपोर्ट न लिखने पर न्यायालय में जाने को मजबूर हो जायेगें।

रिपोर्ट- रवि अग्रवाल रठा

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp