ममता ने अपने हाथ से ठोकी अपने ताबूत में कील

मऊरानीपुर  (झाँसी) पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्त्री ममता बनर्जी सरकार के तानाशाह रवैये और भाजपाइयों के खिलाफ मारपीट को लेकर को आज अहम बैठक नगर अध्यछ BJP नरेंद्र दमेले की अध्यछता में हुई।

बैठक में कहा गया कि TMC की हार मानता देख ममता बनर्जी बौखला गई है। जिला उपाध्यछ मोहन पुरवार ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की रैली में हिंसा, उपद्रव मचाकर ममता सरकार ने खुद अपने ताबूत में आखरी कील ठोकने की तैयारी कर ली है 23 मई ममता के राजनैतिक पतन का दिन होगा।

विधानसभा अध्यछ महेंद्र पाठक ने कहा कि ममता बनर्जी ने रैली में हिंसा पथराव करवाकर जता दिया कि वो हिटलर से कम नही। इनके अलावा विनोद सहगल, मनोज मिश्रा, डॉ आशीष मिश्रा, देशराज सुल्लेरे, चंचल कँथरिया, अखिलेश सेठ, वीरेंद्र अग्रवाल,कैलाश राजपूत, चिंतामन श्री वास, दिनेश गौतम,रामलखन दुबे, रोहित सोनी,रफी अहमद बन्ने, रोहित सेठ, गोपाल श्री वास, मयंक शर्मा, अरविन्द आर्य, जितेंद्र श्री वास,राजेश बिलाटिया, अमित चतुर्वेदी, अभिषेक बिरथरे, अनुज नायक, अशोक वर्मा, हरिमोहन दुबे, महेश साहू, हरिओम यादव, सुनील मिश्रा, शिवम पांडये,ज्ञानेश्वर साहू,शीला साहू,बन्दना मिश्रा, राज चोकर्या आदि ने कहा कि ममता बनर्जी का मानसिंक रूप से दिवालिया हो चुकी है इसीलिये शर्मनाक हमला करवाया।

रिपोर्ट- रवि अग्रवाल रठा

Bitnami