ललितपुर के कुएं में महाराष्ट्र के युवक की लाश मिलने से सनसनी, ये है रहस्य

ललितपुर। बुंदेलखंड के ललितपुर क्षेत्र से एक कुएं में महाराष्ट्र के रहने वाले एक युवक की लाश मिलने से हड़कंप मच गया। एक तरफ जहां इस पूरे मामले में आत्महत्या करने वाले युवक को बंधक बनाए जाने की आशंका जताई जा रही है वहीं दूसरी तरफ पुलिस इस पूरे मामले को सिर्फ आत्महत्या मानकर चल रही है। इस घटना के बाद आनन फानन में ग्रामीणों ने कुएं में एक लाश तैरने की सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कुएं से बाहर निकाला और इस की शिनाख्त करवानी शुरू कर दी। बाद में पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मामला ललितपुर जनपद के जखोरा थाना क्षेत्र का है। यहां के गांव राजपुर कोटला में आज एक कुएं में लाश तैरती हुई देखी गई। जिसके बाद लोगों ने इसकी सूचना जखौरा थाना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची जखौरा थाना पुलिस ने कुए से युवक की लाश निकलवाई और शिनाख्त करवानी शुरू की, तो पता चला कि यह युवक महाराष्ट्र का रहने वाला है। और इसकी शिनाख्त मयूर पत्र दिलीप उम्र 24 वर्ष निवासी भुजा पर महाराष्ट्र के रूप में हुई है।

ऐसे आया महाराष्ट्र से ललितपुर

इस मामले में पुलिस ने बताया कि यह युवक 9 माह पहले ही यहां के पूर्व प्रधान नंदू के घर पर आया था। और तभी से यह यहीं पर रह रहा है।

क्या बताई पूर्व प्रधान ने कहानी ?

आज से करीब 9 माह पहले जब मैं तालबेहट से अपने गांव वापस आ रहा था। तभी रास्ते में मुझे मयूर मिला था। मयूर ने मुझसे लिफ्ट मांगी, तो मैंने उसे अपनी गाड़ी पर बैठा लिया। इस दौरान मयूर ने बताया था कि वह महाराष्ट्र के भुजावल का रहने वाला है, और ट्रक से अपने घर जा रहा था। तभी रास्ते में ट्रक ड्राइवर से उसकी अनबन हो गई और वह बीच रास्ते में ही उतर गया, लेकिन इसके बाद उसके पास ना तो पैसे थे, और ना ही जाने के लिए कोई संसाधन। जब मैंने उससे यही रुक जाने का अनुरोध किया तो वह मान गया। और घर पर ही कामकाज करने लगा। करीब 9 महीने से वह मेरे यहां ही रह रहा है।

पूर्व प्रधान के इस कथन पर पुलिस ने भी मुहर लगाई है। लेकिन कहीं ना कहीं इस पूरे मामले में झोल नजर आ रहा है। खास बात यह भी है कि 9 माह एक जगह रहने के बाद भी पूर्व प्रधान और आसपास के लोगों ने उसके परिजनों को इस के यहां होने की सूचना नहीं दी।

तो क्या है सच्चाई?

आमतौर पर कुछ दबंग और प्रभावशाली व्यक्ति अपने निजी काम काज या होटलों के काम के लिए बाहरी लोगों को बंधक बना लेते हैं, और उन्हें टॉर्चर कर के अपने पास ही रखते हैं। ऐसे में यह मामला भी इसी तरह का समझ जा रहा है, हो सकता है कि मयूर भी इसी का शिकार हो और अपनी जिंदगी से तंग आकर उसने आत्महत्या की हो।
इस घटना के बारे में पुलिस का मानना है कि युवक कुए के पास नहा रहा होगा, तभी अचानक पैर फिसल जाने से वह कुएं में गिर गया। जिससे उसकी मौत हो गई।
रिपोर्ट : गौरव सैनी

Bitnami