इस गाँव के लोग तरस रहे एक एक बूंद पानी को

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp

 

महोबा (न्यूज़ ) कुलपहाड़ तहसील के चपका गांव के वाशिंदों का दर्द बहुत ही गहरा है । यहां के लोगों को पीने का पानी बामुश्किल से नसीब हो रहा है । वह भी एक  किसान अमरीश की वजह से , जो अपने खेतों को प्यासा छोड़कर गांव की प्यास बुझाने का भरसक प्रयास कर रहा है ।

सूखा कि मार झेल रहा चपका गांव के लोगो का यह मर्ज नया नही है । ये वेहद पुराना है । यहां के लोगों कि प्यास बुझाने के लिए कुलपहाड़ के तत्कालीन एसडीएम प्रांजल यादव ने तीन प्लास्टिक की टंकिया रखवाई थी ।और टंकियों में पानी भरने के लिए किसान अमरीश के खेत में बने कुएं से पाइपों के माध्यम से पानी लाया गया था । जिससे ग्रामीणों की कुछ हद तक पानी की जरूरत पूरी हुई थी ।

लेकिन अब हालात यह है कि कुएं का जल स्तर बेहद कम हो गया है । जिससे कुएं से केवल एक वक्त ही पानी आता है । जिससे बा-मुश्किल से तीन टंकिया भर पाती है । गांव में पानी के लिए हैण्ड पम्प नही ,सड़क नही और सरकारी राशन की दुकान से राशन लेने के लिए चपका गांव से 10 किलो मीटर दूर दूसरे गांव जाना पड़ता है ।यहां के लोग दोजख जैसे हालत के बीच जीने को मजबूर है ।गांव के लोग पानी सहित कई समस्याओं से जूझ रहे है । इनकी सुध लेने वाला कोई नही ।

रिपोर्ट : जयप्रकाश  द्विवेदी

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp