झांसी के टहरौली में तहसील और पुलिस प्रशासन की नाक के नीचे अवैध खनन और परिवहन

कुकरगाँव, कलौथरा, पथरेडी और बरौल में जमकर हो रहा है बालू का अवैध उत्खनन, बड़े अधिकारियों को है अवैध खनन की पूरी जानकारी, सिस्टम के तहत रहते हैं मौन, अवैध खनन के सम्बन्ध में उपजिलाधिकारी टहरौली की कार्यप्रणाली और खनन माफियाओं को संरक्षण से उनपर लग रहे गम्भीर आरोप

टहरौली (झाँसी)। प्रदेश सरकार की मंशा के विपरीत धरातल पर बालू खनन की स्थिति कुछ और ही बनी हुई है। टहरौली क्षेत्र में खनन माफिया निर्भीक होकर लगातार दिन रात अवैध बालू उत्खनन में संलिप्त हैं । खनन माफियाओं ने शासन प्रशासन को धता बताते हुये चिन्हित घाटों के अलावा जेसीबी और एलएनटी मशीनों द्वारा बेतवा नदी पर नये स्थान अवैध खनन हेतु बना लिये हैं, जहां से खनन माफिया रात्रि में अबैध उत्खनन को अंजाम दे रहे हैं ।
टहरौली तहसील के ग्राम बरौल में अवैध रूप से बेतवा नदी में से नाव द्वारा बालू निकाली जा रही है । कुकरगाँव, पथरेड़ी और कलौथरा में खनन माफियाओं द्वारा बनाये गये अवैध बालू घाटों से दिन और रात्रि में बालू का अबैध खनन लगातार बदस्तूर जारी है ।

तहसील प्रशासन को बड़ी घटना का इंतजार

बताया जा रहा कि यहाँ सक्रिय खनन माफिया दिन में, इन अवैध बालू घाटों से बालू निकाल कर, बालू का डम्प करते हैं और रात्रि में बिना रॉयल्टी की बालू का परिवहन किया जाता है । टहरौली कस्बा में भी रातों दिन अबैध बालू से लदे ट्रैक्टरों की धमाचौकड़ी जारी रहती है । अवैध उत्खनन द्वारा लायी गयी बालू से लदे ट्रैक्टर ट्रॉली टहरौली में दिन में भी स्थानीय तहसील कार्यालय, क्षेत्राधिकारी कार्यालय और स्थानीय थाना परिसर के सामने से बेरोकटोक फर्राटे भरते हुये आसानी से नजर आ जाते हैं । सकरी गलियों में तेजी से भागते ट्रैक्टर कभी भी बड़ी अनहोनी को आमंत्रित कर सकते हैं । टहरौली मुख्यालय आने वाले सिंगल रोड बघेरा व बेरबई मार्ग पर तेज दौड़ते अवैध बालू से लदे ट्रैक्टर और छोटे डम्फर कभी भी बड़ी दुघर्टना को अंजाम दे सकते हैं ।

SDM ने पकड़े ट्रक, फिर क्यों छोड़ दिये?

वही चर्चा हैै कि बीते कुछ दिनों पहले उपजिलाधिकारी टहरौली द्वारा बालू से भरे दो ट्रैक्टरों को पकड़ा गया था, और सिस्टम बन जाने के बाद बिना रॉयल्टी की बालू से लदे इन ट्रेक्टरों को उपजिलाधिकारी द्वारा छोड़ दिया गया । इतना ही नहीं कुछ दिनों पहले रात्रि में पकड़े गये एक डम्फर को भी उपजिलाधिकारी द्वारा छोड़ दिया गया ।

माफियाओं के सिस्टम में हैं क्या अफसर ? बबीना विधायक भी लगा चुके हैं आरोप

टहरौली में, यहाँ सक्रिय खनन माफियाओं और यहाँ पदस्थ उपजिलाधिकारियों की सांठ गांठ का रिश्ता काफी पुराना रहा है । इसके पहले बबीना विधायक द्वारा निवर्तमान उपजिलाधिकारी टहरौली पर भी अवैध खनन को लेकर गम्भीर आरोप लगाये गये थे । और विधायक द्वारा लिखित रूप से उनकी शिकायत जिलाधिकारी झाँसी से एवं सूबे के मुख्यमंत्री से की थी । टहरौली के आस पास का क्षेत्र यहाँ सक्रिय खनन माफियाओं और यहाँ पदस्थ अधिकारियों के लिये मोटी कमाई का एक बड़ा जरिया है । जिसको कोई भी नहीं छोड़ना चाहता है । अवैध उत्खनन पर स्थानीय प्रशासन मौन बना बैठा है जिससे खनन माफियाओं को अप्रत्यक्ष सहमति प्रतीत हो रही है। लोगों का कहना है कि सिस्टम के तहत सभी सम्बन्धित अधिकारियों के पास उनका हिस्सा पहुँचाया जा रहा है जिसके कारण सम्बन्धित अधिकारी कुम्भकर्णी निद्रा में बने हुये है ।

क्या बोले क्षेत्राधिकारी?

जब इस विषय में क्षेत्राधिकारी टहरौली ठाकुर दीनपाल से बात की गयी तो उन्होंने कहा कि अवैध उत्खनन को कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा । क्षेत्राधिकारी टहरौली ने कहा कि उनको अवैध खनन की सूचना मिलने पर समय समय पर बड़ी छापामार कार्यवाही की गयी हैं । क्षेत्राधिकारी टहरौली ने कहा कि कल ही उनके द्वारा अवैध बालू से लदे एक डम्फर को सीज करके खनन विभाग और वाणिज्य कर विभाग को सूचित किया गया है । उन्होंने स्पष्ट किया कि उत्तर प्रदेश शासन और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक झाँसी के निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन करवाया जायेगा ।

रिपोर्ट : रीतेश मिश्रा राघवेंद्र

Bitnami