बीजेपी कैंडिडेट को जिताने स्ट्रांग रूम की सील तोड़कर बदलीं EVM मशीनें, Video हुआ वायरल

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp

आपने फिल्मों में देखा होगा कि किस तरह एक प्लान बनाकर स्ट्रांग रूम में घुसकर ईवीएम बदलकर जनमत को ही बदल दिया जाता है। अब की बार यह फिल्मों में नहीं बल्कि हकीकत में हुआ है। जी हां पूरे देश में लोकसभा चुनाव उफान पर है। नेता एक-दूसरे पर बयानबाजी कर रहे हैं। कभी बजरंगबली तो कभी सेना भी बीच में आ जाती है। लेकिन इसी बीच अब खबर आई है,

स्ट्रांग रूम में घुसकर सील तोड़कर ईवीएम बदले जाने की। इसका एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। यह वीडियो एक्शन न्यूज़ को मिला जिसके बाद हमने इसके बारे में और जानकारी खंगालना शुरू की। तो इसमें बड़ा ही झोल सामने आया है। आइए जानते हैं क्या है पूरा माजरा?
उत्तर प्रदेश में 80 लोकसभा सीटें हैं. जिनमें से 1 सीट है बदायूं लोकसभा सीट. इस सीट से समाजवादी पार्टी के नेता धर्मेंद्र यादव सांसद हैं. 2014 में करीब 1 लाख से अधिक वोटों से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी को हराकर उन्होंने जीत दर्ज की थी। इस बार भी समाजवादी पार्टी के नेता धर्मेंद्र यादव यहां से चुनाव लड़ रहे हैं। यहां तीसरे चरण में मतदान की प्रक्रिया पूरी करा ली गई है, और सभी उम्मीदवारों का अवश्य EVM में बंद हो गया। कड़ी सुरक्षा के बीच स्ट्रांग रूम में सील बंद कर ईवीएम को सुरक्षित किया गया, लेकिन खबर आ रही है कि यहां से स्ट्रांग रूम का सील तोड़कर EVM मशीनों की अदला-बदली कर दी गई है।

ऐसा ही आरोप लगाया है मुलायम सिंह यादव के भतीजे और यहां से समाजवादी के टिकट पर सांसद पद के उम्मीदवार धर्मेंद्र यादव ने लगाया है। उन्होंने वीडियो को शेयर करते हुए आरोप लगाया है कि उन्हें हराने के लिए और बीजेपी कैंडिडेट को जिताने के लिए बड़े पैमाने पर ईवीएम की बदली की गई है।

ये है आरोप का आधार

बदायूं लोकसभा सीट के संभल जिले के बहजोई मंडी समिति परिसर में जिला प्रशासन ने चुनाव मतदान के बाद स्ट्रांग रूम में जाकर ईवीएम मशीनों से छेड़छाड़ कर उनकी अदला बदली की है। यह सारी कोशिश भाजपा प्रत्याशी को जिताने के लिए की जा रही हैं। 24 अप्रैल की शाम 6:00 बजे से रात 10:00 बजे तक कुछ बड़ा घपला हुआ है। जिसका एक वीडियो भी वायरल हुआ है। इसमें स्ट्रांग रूम के उस कमरे की सील टूटी हुई स्पष्ट नजर आ रही है। जिसमें बदायूं लोकसभा की गुनौर विधानसभा की ईवीएम मशीन रखी गई है।

यह बात कही है सपा सांसद धर्मेंद्र यादव ने।

क्या बोले अधिकारी?

वही एक न्यूज़ वेबसाइट द्वारा जब इसके बारे में संभल के एडीएम प्रशासन लवकुश त्रिपाठी से बात की गई तो उन्होंने इस पर सफाई देते हुए कहा कि

स्ट्रांग रूम में गुन्नौर विधानसभा क्षेत्र के कमरे के आउटर गेट पर एक तोता फस गया था। जिसको निकालने के प्रयास में जाली खिसक गई। जिससे उनको लगा होगा कि कोई हरकत हुई है। जबकि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ।

यहां त्रिपाठी जी की जय बोलनी पड़ेगी, क्योंकि उनका यह बयान हर किसी के तोते उड़ा सकता है। वैसे तो प्रशासन का हर बार यही दावा होता है कि उनकी सुरक्षा में परिंदा भी पर नहीं मार सकता, लेकिन इस बार शायद परिंदा पर मार गया, और यह परिंदा अब उनके लिए भारी पड़ सकता है। धर्मेंद्र यादव का आरोप है कि बाकायदा सील तोड़कर मशीनों की अदला बदली हुई है, और बाद में नया ताला लगा दिया गया। धर्मेंद्र यादव ने प्रशासन से सीसीटीवी फुटेज दिखाने की बात कही है।

आप हमें कमेंट करके हमारी खबर के बारे में अपनी राय रख सकते हैं। और यदि आपको हमारी ये ख़बर अच्छी लगी हैं, और ऐसीं खबरें आप पढ़ना चाहते हैं तो आप हमारा फेसबुक पेज Action News India को लाइक कर सकते हैं। यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं। और ट्विटर पर हमें फॉलो कर सकते हैं। ताकि तभी हमारी सारी खबरें आप तक तत्काल पहुंचे, और आप उनका आनंद उठा सकें

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp