मैनेजर व कैशियर न होने से स्टाफ की मनमानी से ग्राहक परेशान

कटेरा (झाँसी)  नगर में संचालित पंजाब नैशनल बैंक में मैनेजर व कैशियर न होने से बैंक में अव्यवस्था फैल गयी है। ऐसे में बैंकीय कामकाज की पूरी जिम्मेदारी अन्य स्टाफ के भरोसे चल रही है। बैंक में लोगों के कार्य पूरी तरह से प्रभावित हो रहे हैं।

स्टाफ के निचले कर्मचारी लोगों के साथ बदसलूकी पर उतर आते हैं। जिसकी शिकायत प्रभारी मैनेजर से की गई, मगर किसी प्रकार का सुधार बैंकीय प्रणाली में देखने को नहीं मिला है। बता दें कि नगर व ग्रामीण क्षेत्रों यारा, लारोन, काडोर, पड़रा, भटा, नगाइच, ओबरी, साजेरा, भडार, तुडयन, रेवरन आदि ग्रामीण क्षेत्रों में इकलौती पंजाब नेशनल बैंक स्थापित की गई है। जिसमें करीब पच्चीस हजार से अधिक लोगों के खाते हैं।

कर्मचारी करते हैं मनमानी, एसबीआई की शाखा खोलने की मांग की

बैंक में प्राइवेट कर्मचारी के तौर पर भृत्य रखे गए हैं, जो उपभोक्ताओं के साथ मनमाने तरीके से व्यवहार करते हैं। कई बार लोगों की बड़ी बहस के साथ विवाद भी हो जाता है। शिकायत करने पर स्टाफ के सदस्य उल्टा लोगों पर ही भड़क पड़ते हैं।

समस्या यह है कि नगर में यह एक मात्र बैंक है, जिसमें लोगों के खाते हैं। हालांकि नगरवासियों ने शासन से मांग की है कि कस्बे में एसबीआई बैंक की शाखा खोली जाए। जिससे यहां के उपभोक्ताओं की परेशानी दूर हो सके। साथ ही ग्रामीण क्षेत्र के किसानों को बैंक की सुविधा मिले। मगर समस्या को लेकर किसी प्रकार का निदान नहीं किया जा रहा है। इससे लोगों में शासन व प्रशासन के प्रति निराशा व्याप्त होती जा रही है।

रिपोर्ट- भूपेन्द्र गुप्ता

Bitnami