भजन सम्राट पवन तिवारी की धुन पर झूमे श्रोता

गुरसराय। झांसी। (न्यूज़) भगवान परशुराम के प्राकट्य अवसर पर बृहद ब्राह्मण परिषद की ओर से श्री कल्याण बाल विद्या मंदिर में आयोजित भजन संध्या में पं पवन तिवारी के भजनों पर देर रात तक श्रोता झूमते रहे।
नगर के श्री कल्याण राय मंदिर के गीता मंच पर भजन संध्या का शुभारंभ नगर पालिका अध्यक्ष पं देवेश पालीवाल एवं बृहद ब्राह्मण परिषद के अध्यक्ष पं सुरेंद्र व्यास नें भगवान परशुराम के चित्र का पूजन अर्चन कर किया।
इसके बाद भजन संध्या का शुभारंभ भजन सम्राट पं पवन तिवारी ने अपने भजन राम भक्त ले चला रे राम की निशानी से किया। इसके बाद उन्होंने गजब कर डारो रे कारी कांवर वाले ने एवं भजन लखन दुलारे बोल कछु बोल के द्वारा भरपूर राम रस की वर्षा की। उन्होंने देश के प्रख्यात राम कथा के गायक स्वामी राजेश्वरानंद जी को पुष्प समर्पित करते हुए उनके द्वारा रचित पुष्प वाटिका प्रसंग का भजन बगिया विच जान ना देहो रघुवर विनती सुनो के द्वारा भाव विभोर किया। उनके साथ कीबोर्ड पर जय कुमार भट्ट टीकमगढ़ तबले पर शुभम तिवारी चित्रकूट ढोलक पर त्रिलोकी जी अशोकनगर पैड पर अंशुल भट्ट दिल्ली आदि कलाकारों ने अपनी कला के द्वारा मन मोहा।

कार्यक्रम के पूर्व में पं कौशलेश मिश्रा अजय गोस्वामी शालू गोस्वामी आशुतोष गोस्वामी मनीष नेवालकर अरविंद पिपरैया सुशील स्वामी पंकज समेले मुकेश त्रिपाठी गढ़ा मंदिर राधिकेश शर्मा प्रफुल्ल तिवारी आदि ने माल्यार्पण कर स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन गुलाब राय शर्मा एवं सरजू शरण पाठक ने किया।
इस मौके पर मंडी सचिव केके श्रीधर कस्बा इंचार्ज उपनिरीक्षक सत्यदेव पाठक अनिल तिवारी सत्य प्रकाश चतुर्वेदी विनय पस्तोर अमन गोस्वामी अरुण चतुर्वेदी कुंज बिहारी अरजरिया अखिलेश तिवारी सुट्टा अमन गोस्वामी पवन स्वामी शुभम पचोरी जयप्रकाश वरसैया प्रमोद स्वामी संदीप कोठारी शशिकांत पस्तोर रमेश सोनी चंद्र प्रकाश चौरसिया कमलाकांत नायक इंद्र भूषण द्विवेदी शिव कुमार मिश्रा नमन सोनी दया सिंधु नायक अखिलेश तिवारी छिरोरा रजनीश त्रिपाठी बालू प्रधान ओमप्रकाश पंडा राधा रमन शर्मा अनिल तिवारी अखिलेश शर्मा भरत शरण कौशिक पुष्पेंद्र पाराशर नूतन पाराशर सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित रहे।


प्रसिद्ध भजन गायक पं पवन तिवारी ने मैहर घराने के संगीत गुरु प्रसिद्ध सितार वादक पं परशुराम पाठक के माँ शारदा संगीत विद्यालय में जाकर भेंट की और संगीत के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना की।साथ ही गोलोक वासी सितार वादक पं पन्नालाल जैन एवं प्रसिद्ध रामकथा के गायक स्वामी राजेश्वरानंद जी महाराज को श्रद्धांजलि अर्पित की।

Bitnami