आखिर क्यों रुक गया सिक्को का प्रचलन ?क्या है इसकी बजह?जानने के लिए पढ़िए यह खबर

गुरसराय ( झांसी) न्यूज़ – इस समय नगर एवं ग्रामीण क्षेत्र में दो तीन महीने से लगातार सिक्को का प्रचलन रुका हुआ है। जिससे नगर एवं ग्रामीण क्षेत्र के लोगो को इस समस्या का सामना करना पड़ रहा है। जिससे आये दिन ग्राहक और दुकानदारों में झड़प की स्थिति बन रही है। गुरसराय सहित ऐसे कई ग्रामीण क्षेत्र है। जहां आज भी सिक्को का प्रचलन रुका हुआ है। आखिर कब तक सिक्को को लेकर ऐसी स्थिति बनी रहेगी।

सिक्को का प्रचलन रुक जाने से लोगो को फुटकर सामान लेने में 5 रुपये और 10 रुपये का उपयोग करना पड़ रहा है। और फिर दुकानदार जब फुटकर पैसे देता है। तो ग्राहक की दुकानदार से झड़प की स्थिति बनती है। जब इस संबंध में हमारे गुरसराय संबादाता अजय वर्मा ने सिक्को के प्रचलन के प्रति दुकानदारों की राय ली।

उन्होंने बताया कि 1 और 2 रुपये के सिक्के बाजार में कमीशन देकर हमे खरीददारी करनी पड़ती है। जिसकी बजह से हम सिक्के नही लेने को विवश हैं। और हमारी ग्राहकों से आये दिन झड़प की स्थिति बनती है। बही जब इस सम्बंध में थोक विक्रेताओं से बातचीत की तो उनका कहना है। कि हमारे पास पहले से 3 से 4 हजार रुपये के सिक्के रखे हुए हैं। जिसकी बजह से हम मजबूरी में फुटकर दुकानदारों से कमीशन लेकर अपने 1 और 2 रुपये के सिक्के चलाते हैं बही इस सम्बंध में कुछ दुकानदारों द्वारो बताया गया है।

बैंक में सिक्के जमा नही हो रहे हैं । जिसकी बजह से हमारे पास बहुत सारे सिक्के जमा हो गए हैं। सबसे ज्यादा परेशानी ठेला खोमचे बाले और पानी पाउच बेचने बाले लोगो को हो रही है। क्योंकि उनका व्यापार 1 और 2 रुपये के सिक्के से ही चलता है। लेकिन इस समय सिक्को का प्रचलन रुक जाने से ये दुकानदार दाने दाने को मोहताज हो गए हैं ।आखिर क्यों रुका हुआ है। सिक्को का प्रचलन न तो यह सिक्के सरकार द्वारा बन्द किये गए हैं। और न ही रिजर्व बैंक द्वारा फिर आखिर नगर एव ग्रामीण क्षेत्रों में सिक्को का प्रचलन क्यों रुका हुआ है। क्या सिक्को का प्रचलन लगातार ऐसे ही रुका रहेगा। या फिर सरकार और शाशन इस समस्या पर ध्यान देकर जल्द से जल्द छुटकारा दिला पाएंगे।।

रिपोर्टर :अजय वर्मा

Bitnami