Check the settingsधरना प्रदर्शन में युवक ने किया आत्मदाह का प्रयास.. — Action News India
Breaking News
धरना प्रदर्शन में युवक ने किया आत्मदाह का प्रयास..

धरना प्रदर्शन में युवक ने किया आत्मदाह का प्रयास..

मऊरानीपुर (झाँसी) अधिकारियो द्वारा लगातार कोरे आश्वशन से छुब्ध किसान ने उपजिलाधिकारी कार्यालय के पास चल रहे धरना प्रदर्शन के बीच खुद पर मिट्टी का तेल डालकर माचिस निकाली ही थी चौकस प्रशासन ने आनन-फानन में वहां मौजूद पुलिसकर्मियों के साथ उसे पकड़कर हैंडपम्प के पानी से नहलाया।
इस सनसनीखेज मामले में सूत्रों का कहना है कि पीड़ित की मांग सही है लेकिन जिस तरह से इस कारनामे को अंजाम दिलाया गया उसकी अलग चर्चाए सुनने मिली जिसमे प्रशासन पर दबाब बनाकर उंक्त ड्रामा करवाया गया यह बात जाँच का विषय हैं वहीँ अब प्रशासन को ऐसे धरने प्रदर्शन की स्वीकृति देने से पहले सोचना होगा।
फायर बिग्रेड एम्बुलेंस, डॉक्टर, फौरन राहत उपचार की टीम मौके पर रखनी होगी।
पीड़ित किसान का आरोप है कि अनुकम्पा राशि का मुआवजा पाने के लिए कई सालों से अधिकारियों के चक्कर लगा रहा है। लेकिन कोई भी सुनने वाला नहीं है। इस कारण उसने मरने का निर्णय लेते हुए यह कदम उठाया है।
आज तहसील प्रांगण में समस्याओं को लेकर किसान नेता गौरी शंकर विदुआ के नेृतत्व में धरना प्रर्दशन आयोजित किया गया था।
किसानों की समस्याओं को सुनने के लिए वहां उप जिलाधिकारी मऊरानीपुर धरना स्थल पहुंची। जहां वह अभी किसानों की समस्याओं को सुन ही रहीं थीं तभी वहां एक किसान दौड़ता हुआ आया और माचिस जलाकर आग लगाने का प्रयास किया। यह देख वहां अफरा-तफरी मच गई। वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसके  हाथों से माचिस छीनी। उक्त किसान के पास से मिट्टी के तेल की महक आ रही थी। किसान को आनन-फानन में वहां लगे हैंडपम्प नल पर ले गये। जहां उसे नहलाया गया।
इसके बाद उसकी समस्या सुनी गई।
पीड़ित किसान ने अपना नाम मानसिंह निवासी ग्राम बचेरा बताया। किसान मान सिंह का कहना है कि लखेरी बांध परियोजना के तहत मिलने वाली मुआवजे की अनुकम्पा राशि उसे अभी तक नहीं मिली है। वह पिछले 5-6 साल से अधिकारियों के चक्कर लगा रहा है। लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हो रही है। अधिकारियों के चक्कर लगा-लगाकर वह थक गया है।
अब उसके सामने एक ही रास्ता ही कि वह मर जाये। इसलिए आज उसने यह प्रयास किया है। यदि अभी उसकी सुनवाई नहीं होती है तो वह आगे भी इस प्रकार का कदम उठायेगा।

रिपोर्ट- रवि अग्रवाल रठा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*