Check the settingsये 5 ख़ास कारण जिनसे महेंद्र नाथ पाण्डेय बने बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष — Action News India
Breaking News
ये 5 ख़ास कारण जिनसे महेंद्र नाथ पाण्डेय बने बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष

ये 5 ख़ास कारण जिनसे महेंद्र नाथ पाण्डेय बने बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष

2019 चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी अपने कील-कांटे दुरुस्त करने में जुटी हुई है. इसी सिलसिले में भारतीय जनता पार्टी ने देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव किया है . प्रदेश अध्यक्ष पद की कमान सौंपते हुए भाजपा ने महेंद्र नाथ पांडे पर विश्वास किया है । जबकि प्रदेश अध्यक्ष की कतार में कई और सक्रिय नेता भी खडे थे। आख़िर क्या कारण है कि भाजपा शीर्ष ने महेंद्र नाथ पांडे को ही चुना । आइए हम बताते हैं वह 5 कारण जिनके कारण पार्टी प्रमुख ने महेंद्र नाथ पांडे को ही उत्तर प्रदेश का भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चुना है।

1 सवर्णों को साधने की कोशिश

कैबिनेट मंत्री महेंद्र नाथ पांडे को उत्तर प्रदेश का प्रदेश अध्यक्ष बनाकर भारतीय जनता पार्टी ने अपने कोर वोट को साधने की पूरी पूरी कोशिश की है। भाजपा ने अपने सवर्ण वोट को एकत्रित करते हुए महेंद्र नाथ पांडे को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बनाया है । ज्ञात हो कि सुबे में 22 फीसदी सवर्ण वोट हैं । जबकि 12 फीसदी केवल ब्राह्मण वोट हैं । ऐसे में भाजपा ने महेंद्र नाथ पांडे को प्रदेश अध्यक्ष बनाया अपना कोर बोट और भी मजबूत किया है।

2 संघ से नाता

कैबिनेट मंत्री महेंद्र नाथ पांडे को उत्तर प्रदेश का प्रदेश अध्यक्ष बनाने का एक कारण महेंद्र नाथ पांडे का संघ से नाता होना भी है। इसके पहले भी भाजपा राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री तक के पद पर संघ से तालुकात रखने वाले नेताओं को वरीयता दे चुका है। ऐसे में महेंद्र नाथ पांडे संघ से बचपन से ही जुड़े हुए हैं । यहां तक कि संघ की शाखा तक में वह भाग लिया करते थे ,और आंदोलन के दौरान वह कई बार जेल भी गए । शायद यही कारण है कि भाजपा ने अन्य नेताओं को दरकिनार करते हुए महेंद्र नाथ पांडे को प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंपी है।

3 ब्राह्मणों का सामंजस्य

कैबिनेट मंत्री महेंद्र नाथ पांडे को उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष पद की कमान सौंपने का तीसरा कारण ब्राह्मणों को सामंजस्य बिठाना भी है। क्योंकि चुनाव जीतने के बाद भाजपा ने राजपूत परिवार से तालुकात रखने वाले योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री की कमान सौंपी थी। यही नहीं प्रदेश के अधिकतर जिलों में जिलाधिकारी और एसपी राजपूत ही हैं ।जबकि इसके अलावा भाजपा नेता हरिशंकर तिवारी के घर पुलिस के छापे से ब्राह्मण नाराज थे। अब इस पर सामंजस्य बैठाने के लिए भाजपा हाईकमान ने ब्राह्मण कार्ड खेलते हुये महेंद्र नाथ पांडे को प्रदेश अध्यक्ष बनाया है।

4 मोदी – शाह के भरोसेमंद

कैबिनेट मंत्री महेंद्र नाथ पांडे को उत्तर प्रदेश भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने का चौथा कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के भरोसे बंद होना है। आपको बता दें कि कैबिनेट मंत्री महेंद्र नाथ पांडे चर्चाओं की बजाए काम पर विश्वास रखते हैं । ऐसे में यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के भरोसेमंद मंत्रियों में गिने जाने वाले व्यक्तियों में से थे। पांच कारणों में से जहां सभी के अलग-अलग भूमिका है। 

5 संघर्षशील और जमीनी नेता

कैबिनेट मंत्री महेंद्र नाथ पांडे को उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष पद की कमान सौंपने का पांचवा कारण यह है कि महेंद्र नाथ पांडे संघर्षशील और जमीनी नेता भी है। उत्तर प्रदेश के गाजीपुर से तालुकात रखने वाले कैबिनेट मंत्री महेंद्र नाथ पांडे बचपन से ही संघ से जुड़े हुए हैं।