Check the settingsपरेशान आशा बहुओं ने भरी हुंकार, एस.डी.एम. को दिया ज्ञापन — Action News India
Breaking News
परेशान आशा बहुओं ने भरी हुंकार, एस.डी.एम. को दिया ज्ञापन

परेशान आशा बहुओं ने भरी हुंकार, एस.डी.एम. को दिया ज्ञापन

आठ दिन में समस्या हल न होने पर हडताल की घोषणा

मऊरानीपुर (झांसी) कल चौबीस घण्टे के अल्टीमेटम के बाद भी विभागीय जिम्मेदारों ने आशा बहुओं के खाते में प्रोत्साहन धनराशी नही डाली गई जिस पर सभी उग्र होकर आज दोपहर एकजुट होकर नारे लगाती हुई कचहरी पहुंची जहां एस.डी.एम. को दिये ज्ञापन में आठ दिन के अंदर खातों में रुपये न आने पर हड़ताल पर चले जाने की घोषणा कर डाली।

आशाओं का नेतृत्व कर रही श्रीमति अर्चना टकटौली ने एस.डी.एम. श्रीमति वान्या सिंह को बताया कि उनसे लगातार काम लेने के बाद भी चार माह से उनके खाते में रुपये नही आये।

बताया कि आशाओं को स्वास्थ विभाग से तमाम योजनाओं के तहत काम करने के बदले प्रोत्साहन धनराशी उनके खाते में विभाग द्वारा दी जाती हैं।

जिससे उनका परिवार का भारण पोषण होता है, गत मार्च से उनके खाते में उक्त रुपया नही आया, कहा कि यदि आठ दिनों के अंदर उनके खाते में उनके मेहनत पसीने की भरण पोषण प्रोत्साहन धनराशी नही आई तो वह आगामी 19 मई से काम बंद कर हडताल कर मजदूरी करके परिवार का भरण पोषण करेंगी।

इस मौके पर आशा बहू प्रभादेवी, अनीता देवी, प्रार्थना पटैरिया, अजंना दुबे, कौशल्या देवी, ममता खरे, कुसुम देवी, बेबी पाल, बृजकुवंर, मानकुंवर, सरोज, सपना देवी, रामदेवी राय, प्रवीण कुमारी, रामकली, रेखा देवी, सरोज चैबे, नीलम, मूलादेवी, राजेश्वरी, मन्नूदेवी, शारदा देवी, सुनीता, राजकुवंर, ममता, पुष्पा राय, सुनीता देवी, सावित्री, विनीता, रचना, अंगूरी देवी, राजेश कुमारी, फूलकुवंर, शंतिदेवी, आशादेवी, बिजय भारती, सजूं देवी, सरला, मदीना बानों, सुनीता, सुमित्रा, सुधा, भगवती, उमा रागनी, रोशनी सुमन, जामवती, रचना ढकौली, हरकुवंर, माधुरी, कौसादेवी, पुष्पा, बैजन्यती, बबली, शंशिकांता, माधुरी, मीरा, मालती, संतोंषी, मिथलादेवी, रामदेवी, सोमलता, कमलेश, श्री कुमारी, उर्मिला, चंद्रवती, रामा दीक्षित सहित भारी संख्या में आशा बहुयें मौजूद रही।

मालूम हो कि आशायें स्वास्थ विभाग के लिये गांव-गांव में रीड की हड्डी की भूमिका में होती हैं ऐसे में वह अब टीकाकरण, ग्र्राम सर्वे अंतराल, डिलेवरी प्रसव, गैर संचारी रोगों के अलावा आयुष्मान भारत, मानसिक विकलांग खोज आदि सहित सभी विभागीय कार्यो का बहिष्कार करेंगी, जिससे केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही जनहित कारी स्वास्थ सेवायें ठप्प हो जायेगी।

रिपोर्ट- रवि अग्रवाल रठा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*