Check the settingsश्राद्ध में क्या करें क्या न करें
Breaking News
श्राद्ध में क्या करें क्या न करें ?

श्राद्ध में क्या करें क्या न करें ?

श्राद्ध क्या है और इसे कैसे मनाते हैं? श्राद्ध में क्या करें क्या ना करें। अक्सर लोग इन शब्दों को गूगल पर सर्च करते नजर आते हैं शायद आपने भी कुछ ऐसे ही शब्दों को सर्च कर श्राद्ध के बारे में जानने की कोशिश की होगी ऐसे कुछ लोग कई लेकिन गलत जानकारियां दे देते हैं तो कई लोगों को गुमराह कर उन्हें भटकाने का काम करते हैं। लेकिन वास्तव में श्राद्ध में क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए इसके बारे में अक्सर कुछ वेबसाइट लोगों को गलत जानकारियां दे देती है तो आइए जानते हैं कि वास्तव में श्राद्ध श्राद्ध में क्या करें और क्या ना करें।

श्राद्ध में क्या करें क्या न करें

सबसे पहले श्राद्ध माह में आप न तो नए कपड़े खरीदें और न ही नए कपड़े पहने। ऐसा इसलिए क्योंकि श्राद्ध माह को आमतौर पर शोक व्यक्त करने वाला माह माना जाता है । अब आप ही बताइए कि किसी का शोक व्यक्त करने के लिए क्या नए कपड़े पहने जाते हैं  ? हालांकि इस कथन पर कई लोगों को संदेह है क्योंकि कहीं पर शोक व्यक्त करने पर लोग नए कपड़े पहनते हैं ,तो कहीं नए कपड़े नहीं पहनते हैं. लेकिन इस संबंध में मेरी यही राय है कि आप अपने स्थान के हिसाब से श्राद्ध का पालन करें.

श्राद्ध माह में धरती पर आते है पितृ

इस माह में आप गहने भी न खरीदें क्योंकि इसका कारण भी ठीक ऊपर जैसे ही है। गहना खरीदना यानी खुशी व्यक्त करना, और शोक के इस माह में आप ऐसा न ही करें तो बेहतर है। इसके अलावा खास बात यह है कि श्राद्ध माह में आप कभी भी नया मकान या घर न खरीदें । हालांकि यह श्राद्ध में वर्जित नहीं है , लेकिन ऐसा माना जाता है कि इस माह में है मैं आपके पैतृक यानी पितृ धरती पर आते हैं, और वह उसी स्थान पर आते हैं जहां उनकी मृत्यु हुई होती है । ऐसे में आप यदि स्थान परिवर्तन कर देते हैं और वह आप से नहीं मिल पाते तो उन्हें तकलीफ होती है।
Read This : पितृदोष क्या है और कैसे दूर होता है?
एक ऐसा ही काम है जो श्राद्ध माह में विशेष ध्यान रखने योग्य होता है, वह यह है कि यदि आपके घर पर कोई भी कुछ मांगने आए तो उसे वापस आते नहीं भेजना चाहिए क्योंकि आपके पित किसी भी रुप में आ सकते हैं । इसके अलावा आप इन दिनों में अकेले पूजन न करें भोजन करने के बाद आप कुछ भोजन को कुत्ता या अन्य जीवो को खिलाएं। इस पोस्ट को पढ़ने के बाद शायद आप समझ गए होंगे कि श्राद्ध में क्या करें ?