Check the settingsसंविदा कर्मी की मौत के बाद जालौन में बबाल, शव रखकर लगाया जाम — Action News India
Breaking News
संविदा कर्मी की मौत के बाद जालौन में बबाल, शव रखकर लगाया जाम

संविदा कर्मी की मौत के बाद जालौन में बबाल, शव रखकर लगाया जाम

जालौन। जालौन में बिजली विभाग में तैनात संविदा कर्मचारी की खंभे पर काम करते समय बिजली की चपेट में आने से मौत हो गई जबकि उसका एक अन्य साथी गंभीर रूप से झुलस गया। इस घटना के बाद संविदा कर्मी आक्रोशित हो गये और उन्होने कालपी पावर हाउस के पास म्रतक का शव सड़क पर रखकर जाम लगा लिया। जिससे आवागमन 2 घंटे के लिये बाधित हो गया। इसकी जानकारी जब प्रशासन को हुयी मौके पर पहुंचा और जाम लगाये संविदा कर्मचारी को समझा बुझाकर वहाँ से शव को हटाया और म्रतक परिवार को मदद का भरोसा दिया।

मामला उरई कोतवाली के कालपी रोड स्थित पावर हाउस का है। बताया गया कि बिजली विभाग में संविदा पर तैनात पंकज विगत दिवस जेल रोड पर बिजली लाईन सही कर रहा था उसी दौरान लाईन में करेंट आ गया जिससे उसकी चिपक कर मौत हो गई। उसके साथ ही काम कर रहा एक अन्य साथी झुलस गया था। इस घटना की जानकारी के बाद बिजली विभाग का कोई अधिकारी संविदा पर काम करने वाले कर्मचारी के घर सांत्वना देने नहीं पहुंचा। इसके बाद सभी संविदा कर्मचारी एक जुट हो गये और उन्होने शव को कालपी रोड स्थित पावर हाउस के सामने रखकर जाम लगा लिया। जिससे कालपी मार्ग पर जाम लग गया। संविदा कर्मचारियों के जाम लगाये जाने की सूचना जब पुलिस और प्रशासनिक अधिकरियों को हुयी। वह मौके पर पहुँचे और उन्होने जाम खुलवाने का प्रयास किया। 1 घंटे तक समझाने के बाद संविदा कर्मचारियों ने जाम खोला और प्रशासन ने शव को गाड़ी मे रखवाया। जाम लगाये संविदा कर्मियों का कहना था कि म्रतक की पत्नी को नौकरी दी जाये इसके अलावा इसके अलावा मुआबजा के साथ पीएफ के साथ सभी कर्मचारियों का बीमा कराया जाये। प्रशासन ने मांगों को मानते हुये अधीक्षण अभियंता से बात करने की बात कही।इस मामले में मौके पर पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट नाथू प्रसाद पाण्डेय ने बताया कि म्रतक की पत्नी को 5 लाख रुपए का मुआबजा बिजली विभाग की तरफ से दिया गया है साथ ही पत्नी अनुराधा को संविदा पर नौकरी विभाग द्वारा दी गई है।

वही विद्युत संविदा कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुनील कुमार ने बताया कि ठेकेदार द्वारा उनका बीमा कराया जाना चाहिये इसके अलावा उनको सुरक्षा भी दी जानी चाहिये जिससे कर्मचारियों को किसी प्रकार की परेशानी न हो। इस जाम से कई घंटे के लिये यातायात बाधित रहा।    

रिपोर्ट : दुर्गेश कुशवाहा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*