Check the settingsगले मिलकर एक-दूसरे को कहा, ईद मुबारक — Action News India
Breaking News
गले मिलकर एक-दूसरे को कहा, ईद मुबारक

गले मिलकर एक-दूसरे को कहा, ईद मुबारक

कटेरा (झाँसी) रमजान के महीने के बाद चांद नजर आते ही हर तरफ ईद की खुशियां फैल गई। ईद-उल-फितर के इस पर्व पर सुबह से ही लोग नमाज अदा करने के लिए ईदगाह पहुंचने लगे। ईदगाह में हापिज इमाम वक्स ने नमाज अदा कराई।

इस मौके पर लोगों ने सारे गिले-शिकवे भुलाकर एक-दूसरे को गले लगाया।

सुबह की नमाज अदा करने के बाद लोगों ने परिजनों, सगे-संबंधियों व दोस्तों को ईद की मुबारकबाद दी।
नए-नए कपड़े पहनकर बच्चों ने भी खूब खुशियां मनाई, जिन्हें सबसे अधिक खुशी ईदी यानी कि उपहार मिलने की थी।
लोगों ने एक-दूसरे को घर पर ईद की दावत दी और सभी ने मिलकर ईद की खुशियों को साझा किया।

इस दौरान कटेरा क्षेत्र के दूर-दराज के ग्रामीण इलाकों व अन्य क्षेत्रों से लोग ईदगाह में नमाज अदा करने गए।
इस अवसर पर खुशी को जाहिर करते हुए लोगों ने ईद के इस मुबारक पर्व को आपसी भाईचारे का प्रतीक बताया।

मो० परवेज खान

इस मौके पर सबसे पहले अल्लाह का शुक्रिया अदा करता हूं। लोग एक-दूसरे को ईदी देते हैं। घर में महिलाएं खास पकवान बनाती हैं, जिसका स्वाद बेमिसाल होता है। इस मुबारक दिन पर जरूरतमंद लोगों को भी खाने की चीजें भेंट की जाती हैं।

इमरान खान

एक महीने के रोजा के बाद चांद को देखकर रोजा तोड़ते हैं। अमन-चैन की दुआ के साथ अल्लाह की इबादत कर सब मिलकर सेंवइयां खाते हैं। परिवार का हर सदस्य इस मुबारक मौके पर साथ होता है। सभी एक-दूसरे को गले लगाकर मुबारकबाद देते हैं।

शहजाद उल्ला

ईद का पर्व मुसलमानों के लिए अल्लाह की तरफ से बहुत ही बड़ा इनाम है, जिसे लोग खुशियों के साथ मिलजुल कर पूरे दुनिया भर के मुसलमान मनाते हैं। यह पर्व आपसी भाईचारे का पर्व है। इस मौके पर लोग एक-दूसरे को दावत देते हैं। मिलजुल कर सेंवइयां खाते हैं और नए कपड़े पहनते हैं। यह खुशियों का त्योहार है।

जावेद हुसैन

ईद-उल-फितर के मौके पर हम सभी मिलकर खुशियां मनाते हैं। इस पर्व में खासतौर पर सेंवइयां बनाई जाती हैं, जिसे सभी लोग अलग-अलग तरीके से खाते हैं। लेकिन मीठी सेंवइयां सबसे अधिक पसंद की जाती है।

फरीद खान (बंटी)

यह उल्लास का पर्व है। इस मुबारक मौके पर लोग सभी आपसी रंजिश भूलकर एक-दूसरे को गले लगाते हैं और ईद की बधाई देते हैं। यह वाकई में इंसानों के लिए खुदा की रहमत है। ईद के मौके पर मैं अपने पूरे परिवार के साथ खुशियां मनाता हूं।

रिपोर्ट- भूपेन्द्र गुप्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*