Check the settingsझाँसी के एरच में Home delivery के नाम पर चल रही अवैध वसूली , नहीं सुन रहा प्रशासन — Action News India
Breaking News

झाँसी के एरच में Home delivery के नाम पर चल रही अवैध वसूली , नहीं सुन रहा प्रशासन

एरच (झांसी) । झाँसी के एरच कस्बे में घरेलू एलपीजी gas की home delivery नहीं की जा रही है जबकि gas एजेन्सी संचालक उपभोक्ताओं से लगातार home delivery के पैसे ले रहा है । लोगों ने डीएम से तत्काल मामला संज्ञान में लेकर home delivery शुरू करवाने की माँग की है । जब कोई home delivery करवाने की बात करता है तो एजेन्सी संचालक के गुर्गे झगडने को उतारू हो जाते है । यानि की यहाँ खुले आम अवैध वसूली की जा रही है । लोगों ने डीएम से तत्काल मामला संज्ञान में लेकर home delivery शुरू करवाने की माँग की है ।

लोगों की परेशानी नहीं समझ रहे अधिकारी

प्रशासन इतना निरंकुश हो गया है कि शिकायत करने पर भी न तो होम डिलीवरी की व्यवस्था की गई और न ही उपभोक्ताओं से कम वसूला गया। ज्यादा परेशानी उनको हो रही है जिनके पास कोई वाहन नहीं है वह लोग 100 रूपये में आपे या कोई अन्य वाहन किराये पर लेकर सिलिण्डर ला रहे हैं। महिलाओं को खासी परेशानी हो रही है जिनके पति बाहर नौकरी करते हैं। लेकिन प्रशासन और संचालक की सेहत पर कोई असर नहीं हो रहा है पैसा जा रहा है तो जनता का ,अधिकारियों को क्या लेना देना।

लात-घूंसों की पिटाई के बाद भी नहीं कर रहा home delivery

इस सम्बन्ध में जिला पूर्ति अधिकारी से कई बार विनय अनुनय और निवेदन किया गया लेकिन अभी तक होम डिलीवरी नहीं की गई उपभोक्ता यह नहीं समझ पा रहे हैं कि विनय अनुनय के अतिरिक्त कौन सा फार्मूला अपनाना चाहिये जिससे यह संचालक होम डिलीवरी करने लगे. खैर home delivery की समस्या को लेकर आक्रोशित कस्बाबासी एजेन्सी संचालक की लात घूंसों से पिटायी भी कर चुके हैं । लेकिन फ़िर भी home delivery शुरू नहीं हुई. लोगों का सोचना है कि अब आखिर कौन सा फॉर्मूला है जिससे उन्हें home delivery की सुविधा मिलनी लगे ।

यह है Gas की home delivery गाइडलाइन

गैस की होम डिलीवरी न होने से उपभोक्ता खासे परेशान हैं। जबकि नियम यह है कि बुकिंग होने होने के बाद उपभोक्ता के घर पर सिलिण्डर पहुंचना चाहिये। यदि कोई उपभोक्ता गोदाम से उठाता है तो उसके लिये मूल्य अलग निर्धारित है। लेकिन होम डिलीवरी का मूल्य वसूला जा रहा है।

झाँसी के एरच से काजी जाबिर अली की रिपोर्ट

क्लिक कर पढ़ें -: वाह री nagar Panchayat ! सल्तनत कालीन कब्रिस्तान की मजार पर फिकवा दिया कूड़ा करकट