Check the settingsLive रामकथा : मोरारी बापू ओरछा मध्य प्रदेश
Breaking News
Live रामकथा : मोरारी बापू ओरछा मध्य प्रदेश

Live रामकथा : मोरारी बापू ओरछा मध्य प्रदेश

ओरछा। राष्ट्रीय संत परम पूज्य श्री मोरारी बापू ने कहा कि ओरछा बिन अयोध्या दर्शन अधूरे है। गुरू गणेश है, मनुष्य को चाहिये कि वह पंचदेवों की वंदना अवश्य करें। भगवान गणेश, सूर्य, विष्णु , शिव और गुरूवंदना से कल्याण निश्चित है। आपने कहा कि लोगों को चाहिये कि वे मंगल उच्चारण, मंगल आचरण अवश्य करें।


श्री राम कथा मर्मज्ञ मोरारी बापू भगवान राम की नगरी ओरछा में शनिवार को श्रीराम कथा के प्रथम दिवस पर अपार जनसमुदाय को कथा का रसापान करा रहे थे। उन्होने कहा गुरू नरायण, गुरू विष्णु, गुरू दुर्गा है। गुरू ही सर्वज्ञ है। आपने कहा कि आज उनसे कुछ लोगों ने पूछा कि आप ओरछा में पहले कभी आये , उन्होने कहा कि जब ओरछा के राजा ने उन्हैं यहां बुलाया तभी वे आ पाये। मन तो बहुत दिन से था। उन्होने कहा कि श्री राम चरित मानस में कांड नही सोपान है। यह एक पुस्तक नही ग्रंथ है।

उन्होने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की सभी को चिन्ता है लेकिन ओरछा में तो मंदिर कब से तैयार है, लेकिन भगवान बड़े निर्माण के नही बड़े भाव के प्रेमी है। उन्होने पुख्य नक्षत्र मेें आकर यहां अपना स्थान बनाया है। यहां उन्हैं राजा के रूप में दिन में 8 बार सलामी मिलती है। भगवान दिन भर यहां रहकर भक्तों के कष्ट हरते है। केवल रात में विश्राम के लिये अयोध्या जाते है। उन्होने कहा कि अयोध्या मेें सम्पूर्ण दर्शन ओरछा के दर्शन के बाद ही होते है। यहां भगवान अपने बनवास काल में भी रहे है। बुन्देलखण्ड की धरती भगवान राम के पदचिन्हों से भरी पड़ी है। यहां के लोगों के लिये यह सौभाग्य की बात है।

मोरारी बापू ने कहा कि दुनिया के जर्रें – जर्रें में भगवान राम की उपस्थिति है। गोस्वामी तुलसीदास ने साधु – संतो के साथ सज्जन व्यक्तियों को भी सम्मान देने उनके वंदना करने पर जोर दिया है। राम चरित मानस में मां की महिमा पर भी उन्होेने सुंदर ढंग से व्याख्या की। मंगल भजन, श्रीराम धुन पर भक्तों को उन्होने भावविभोर कर दिया।

श्री सदगुरू जन्म शताब्दी महोत्सव के अन्र्तगत मर्यादा पुरूषोत्तम श्री राम की जीवनगाथा श्री राम कथा के प्रारंभ दिवस पर श्रीमद् जगदगुरू द्वाराचार्य मलूक पीठाधीश्वर श्रद्धेय श्री राजेन्द्र दास देवाचार्य महाराज ने भगवान राम के ओरछा आगमन की कथा को विस्तार से बताया। कहा कि गौसेवा से सारे देव प्रसन्न रहते है। महन्त अनन्तदास महाराज, महामण्डेलश्वर संतोष दास महाराज ने दीप प्रज्वालन किया। राष्ट्रीय संत मोरारी बापू का फूलमालाओं से स्वागत किया।

इस दौरान विधायक अनिल जैन, जिला धर्माचार्य महन्त विष्णु दत्त स्वामी, नगर धर्माचार्य प. हरिओम पाठक, बसन्त गोलवलकर, लल्लन महाराज, अनुरूद्ध दास महाराज ओरछा, मनोज पाठक, पीयूष रावत, अनिल रावत, आशीष राय, देवेश पाण्डेय, रत्नेश दुबे, पुनीत रावत, रीतेश दुबे, अंचल अड़जारिया, मनीष नीखरा, नीरज राय, शिवशंकर संकल्प, अनिल दीक्षित, घनश्याम चौबे , सोनी कुशवाहा, बन्टू मिश्रा आदि उपस्थित रहे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*