Check the settingsसैकड़ों किसानों ने उपजिलाधिकारी टहरौली को सौंपा ज्ञापन — Action News India
Breaking News
सैकड़ों किसानों ने उपजिलाधिकारी टहरौली को सौंपा ज्ञापन

सैकड़ों किसानों ने उपजिलाधिकारी टहरौली को सौंपा ज्ञापन

टहरौली (झाँसी) । आज तहसील टहरौली मे सैकड़ों किसानों ने अपनी समस्याओ को लेकर उपजिलाधिकारी टहरौली ज्ञानेश्वर प्रसाद को ज्ञापन सौंपा तथा फसल बीमा कम्पनीयो से किसानो को फसल बीमा का लाभ दिलाने व बीमा कम्पनी को कैम्प लगाकर किसानों की फसल बीमा का क्लेम भरवाने की मांग की । अपनी समस्याओ को लेकर दर्जनों गाँव पिपरा , सतपुरा ,घुरैया , बकायन, खजराहा , रौरा ,बमनुवा ,टहरौली ,बसारी , नौटा , गाता ,इमिलिया ,परसा , सिलोरी , गुन्दाहा , टहरौली किला , टहरौली खास आदि ग्रामों के सैकड़ों किसानों ने तहसील परिसर मे धरना देकर उपजिलाधिकारी को पांच सूत्रीय ज्ञापन सौंपा जिसमें किसानो ने माँग की , कि उर्द व तिल की 80% व मूंगफली की 60%फसल नष्ट हो गयी हैं जिसकी रिपोर्ट शासन को भेजी जाय । दूसरी मांग लेखपालों से शीघ्र ही किसानो के खसरा बनबाकर बीमा कम्पनी को भेजा जाय । किसानों ने माँग की , कि 2014 से स्वीकृत किसानो के विद्युत कनेक्शन का सामान अभी तक किसानों को उपलब्ध नही हो पाया है वह अविलम्ब दिलाया जाय । तहसील टहरौली के किसान अन्ना प्रथा से परेशान हैं एक सप्ताह मे उक्त समस्या का समाधान किया जाय । तथा बिजना फीडर में रखी पुरानी मशीन को बदलवाया जाय ।किसानो ने मांगे पूरी नही होने पर 1 अक्टूबर से आमरण अनशन करने की बात कही । इस मौके पर राजेन्द्र प्रसाद शुक्ला बमनुआं , राजेश्वर सिंह यादव घुरैया , श्याम सुन्दर तिवारी सतपुरा ,नरेन्द्र कुमार शर्मा बकायन , बिप्पी यादव पिपरा ,पुष्पेन्द्र सिंह ,परमानन्द पाल बकायन , गुलजारी , प्रहलाद सिंह , दृगपाल सिंह , वीरेन्द्र कुमार , रवीन्द्र सिंह बकायन , ओमप्रकाश घुरैया , राकेश शुक्ला , कैलाश पाल आदि किसान उपस्थित रहे ।

सिंघासन में सवार हो भगवान निकले जलविहार को

टहरौली (झाँसी) – टहरौली स्थित मन्दिरों में विराजमान भगवान जलविहार करने के लिये सर्वोदय तालाब पहुंचे । टहरौली के लक्ष्मन जी महाराज मन्दिर , रामजानकी मन्दिर , कलिहार जू मन्दिर , धुनुषधारी जी भगवान मन्दिर , समेले मन्दिर आदि के विमानों ने जलबिहार कर पूरे कस्बे का भ्रमण किया । लोगों ने अपने अपने घरों पर विमानों में विराजमान भगवान की आरती कर स्वागत किया ।

रिपोर्ट : रीतेश मिश्रा राघवेंद्र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*