Check the settingsइनकी उम्मीदों पर इसलिए खरे उतरे भुवनेश्वर कुमार — Action News India
Breaking News
इनकी उम्मीदों पर इसलिए खरे उतरे भुवनेश्वर कुमार

इनकी उम्मीदों पर इसलिए खरे उतरे भुवनेश्वर कुमार

दक्षिण अफ्रीकी में सफल रहे भारतीय पेस गेंदबाज जवागल श्रीनाथ ने विराट सेना की रवानगी से पहले कहा था कि भारतीय पेस गेंदबाजों में भुवनेश्वर के सफल रहने की मुझे उम्मीद है। केपटाउन के न्यूलैंड्स में खेले जा रहे पहले टेस्ट में भुवनेश्वर ने शानदार गेंदबाजी से श्रीनाथ की बात को सही साबित कर दिया है। एक समय तो उन्होंने दक्षिण अफ्रीकी टीम को झकझोर कर रख दिया था।

भुवी का यादगार स्पैल
भुवनेश्वर कुमार ने एक समय तो अपनी गेंदबाजी का ऐसा जलवा दिखाया कि लगा दक्षिण अफ्रीका घसियल विकेट के बनाए अपने ही जाल में फंस गया है। भुवी ने एलगर और अमला को विकेट के पीछे साहा के हाथों लपकवाया । वहीं मक्राम को एलबीडब्ल्यू कराया। इस समय भुवनेश्वर का गेंदबाजी स्पैल था तीन ओवर में पांच रन पर तीन विकेट। भुवी ने पूरे मैच में 19 ओवरों में 87 रन पर चार विकेट निकाले।
श्रीनाथ ने क्या कहा था
मैसूर एक्सप्रेस के नाम से मशहूर रहे जवागल श्रीनाथ दक्षिण अफ्रीकी दौरों पर खासे सफल रहे हैं। उन्होंने वहां खेले 8 टेस्ट में 43 विकेट लिए थे। अपने दक्षिण अफ्रीका के अनुभवों और पिछले डेढ़ साल में भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन को देखकर कहा था कि मेरे हिसाब से भुवनेश्वर कुमार इस दौरे पर स्ट्राइक गेंदबाज की भूमिका निभाएंगे। विराट को चाहिए कि वह इसका छोटे स्पैलों में इस्तेमाल करे। इसकी वजह उन्होंने बताई थी कि भुवी ने अपनी गति में इजाफा किया है और वह बहुत ही  नियंत्रण के साथ गेंद को मूव कराते हैं।
कोलकाता में मिली रंगत

भुवनेश्वर कुमार को काफी समय तक छोटे प्रारूपों का विशेषज्ञ गेंदबाज माना जाता रहा। उन्हें टेस्ट में मौका तो मिला पर वह टीम से अंदर-बाहर होते रहे। पिछले दिनों उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डन्स पर खेले टेस्ट में आठ विकेट लेकर अपनी धाक जमा दी थी। उसके बाद केपटाउन का यह प्रदर्शन उनकी टेस्ट टीम में जगह पक्की कर सकता है। कोलकाता वैसे भी भुवी का पसंदीदा मैदान नजर आता है क्योंकि वह 2016 में ही न्यूजीलैंड के खिलाफ भी छह विकेट निकाले थे। उन्होंने अब तक खेले 20 टेस्ट में 57 विकेट निकाले हैं। 
मनोज चतुर्वेदी ( वरिष्ठ खेल पत्रकार और लेखक)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*