Check the settingsबदहाल बिजली-गर्मी के करंट से झुलसे नगर, क्षेत्रवासी — Action News India
Breaking News
बदहाल बिजली-गर्मी के करंट से झुलसे नगर, क्षेत्रवासी

बदहाल बिजली-गर्मी के करंट से झुलसे नगर, क्षेत्रवासी

मऊरानीपुर (झाँसी) नगर क्षेत्र में भीषण गर्मी और ऊमस के साथ बिजली भी अपना कहर अलग बरपा रही हैं, रोस्टर के अनुसार कागजों में बिजली नियमित आ रही है लेकिन हकीकत यह है कि प्रतिदिन 10 से 15 घण्टे तक बिजली  गायब रहने से आम जनता त्राहि त्राहि कर रही है।

मऊरानीपुर अब बिजली न होने के लिये कुख्यात की तरह बदनाम हो रहा है मनमाने ढंग से की जा रही कटौती के हालात यह है कि जिम्मेदार बिजली की व्यव्स्था सुचारु रखने के लिये कोई कदम नही उठा रहे।

वहीं जब भी विभाग से कारण पूंछा जाता है तो वह रटा रटाया शब्द ईमरजेंसी के नाम पर पल्ला झाड़ लेते हेैं।

गत रात 10 बजे से गई बिजली आज सुबह 10 बजे किसी तरह अलग अलग किश्तों में दी गई, दोपहर एक बजे के बाद से फिर बिजली गायब हो गई।

गायब बिजली के कारण आम आदमी बाहर निकलकर किसी तरह दिन गुजार लेते है लेंकिन घरों में महिलाओं से लेकर मासूम बच्चे गर्मी और ऊमस से बिलबिला रहे हैं वहीं सरकारी दफ्तरों में काम काज लगभग ठप्प पड़ा है।

जिससे आम जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया। मालूम हो कि जल सकंट के चलते रात दिन पानी की तलाश चल रही है जिसमें बिजली का अहम रोल है लेकिन अघोषित कटौती वाली बिजली से अब वह पानी भी नही मिल रहा।

कारण टैंकरों मे पानी ट्यूब बैलो से भरा जा रहा है जो बिजली से चलते है  ऐसे में टैंकर द्वारा जलापूर्ति ठप्प होने की कगार पर आ गई हैं।

रात दिन पानी की कवायद के बीच थकान उतारने के लिये जब पखें आदि चलायें जाते है तो बिजली गायब ऐसे में रातें करवटें बदल बदल कर कट रही हैं।

जिम्मेदार जनप्रतिनिधि इस गम्भीर समस्या से रुबरु है लेकिन इनकी भूमिका धृतराष्ट्र जैसी बनी पड़ी हैं, बेलगाम विभाग की नकेल कसने वाला कोई न होने से सम्बंधित अधिकारी व कर्मचारी भी पूरी तरह लापरवाह बने हुये है और बिजली सकंट अब पानी के सकंट का दूसरा हिस्सा बनता जा रहा है।

पानी और बिजली के आपात कालीन सकंट के दौर में जनप्रतिनिधी एवं अधीनस्थ अधिकारी ए.सी. मे आराम फरमाते हुये खुद मिनरल एव आर.ओ. वाटर पी रहे हैं।

स्थानीय सांसद, विधायक से लेकर हर जिम्मेदार की ओर जनता इस उम्मीद से देख रही है कि राहत मिल जायें लेकिन विधुत एवं जल संस्थान से मायूस हो रहे हैं।

इस मामले मे समाजसेवी राजेन्द्र राहुल का कहना हैं कि बिजली विभाग से पूंछे जाने पर बताया गया कि ट्रांसफार्रमर खराब हो गया जबकि अतिरिक्त ट्रांसर्फामर रखे होने के बाद भी विभागीय लापरवाही के कारण आम जनता को पानी में अब बिजली करंट के झटके लग रहे हैं।

रिपोर्ट- रवि अग्रवाल रठा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*