Check the settingsसमय रहते जागा प्रशासन, नहीं तो हो सकता था बड़ा हादसा — Action News India
Breaking News
समय रहते जागा प्रशासन, नहीं तो हो सकता था बड़ा हादसा

समय रहते जागा प्रशासन, नहीं तो हो सकता था बड़ा हादसा

मऊरानीपुर (झाँसी) ’’विस्फोटक में प्रयोग होने वाला घातक पाऊडर मिला’’ उक्त शीर्षक से गत 22 मई को प्रकाशित खबर का असर आज देखने मिला जब कोतवाली का पुलिस बल आज ईद के दिन सुबह से पूरे दिन उक्त घातक विस्फोेटक पाऊडर को बरामद करने में जुट गया।

वहीं झांसी से ईटेलीजेंसी क्राइम ब्रांच प्रभारी ने एस. आई. सहित डेरा डालकर मामले की गहनता से जांच की जिसमें खबर को सही पाते हुये उच्चधिकारियों को तत्काल लखनऊ तक अवगत कराया गया।

उक्त घातक राड्स को मौके से हटाये जाने पर आसपास के ग्रामीण व राहगीर आज सम्बंधित सडक से निकलते दिखे।

मालूम हो कि उक्त पाउडर की खबर की पुष्टिी के बाद से आसपास के ग्रामीण दहशत के साये में पूरे 26 दिन तक रहे।

जब उच्चाधिकरियों के फोन घनघनाये तक कहीं पुलिस ने उक्त बेहद गम्भीर मामले की सुध 26 दिन बाद ली जो कार्यशैली पर ऊंगली उठाता हुआ बडा सवालिया निशान बन गया। वह भी ईद पर्व के मौके पर।

पूरे मामले में मजे की बात यह रही कि 26 दिन तक खुले जलते आसमान के नीचे आग लगाने के पाउडर आज ईद के दिन सबसे अहम रोल में रहा।

ईटंलेजेसीं अधिकरियों ने बताया कि हजारों राड में से यदि एक भी सही निकल आती तो मंजर बेहद खौफनाक होता। बताया कि उक्त राड्स के पाउडर का प्रेयाग नक्साल वाद ऐरिया में ज्यादा होता है जहां पाइप में उक्त पाउडर साहित अन्य विस्फोटक जोडकर भ्रमण करने वाले पुलिस बल के वाहनों को उडाने को काम करता है।

खबर पर धन्यवाद देनेे आये ईटेलीजेंस प्रभारी झांसी बलवीर सिंह, एस,आई, गौरव शर्मा ने कुछ नाम व मोबायल नम्बर भी लिये एवं बातचीत में बताया कि उक्त मामले में स्थानीय आतिशवाजों के हाथ होने की आशंका के अलावा सम्भावना जताई कि साथ फोरलेन का ठेका लिये पी.एन.सी, कम्पनी की भूमिका इस मामले में सदिग्ंध दिखी।

मौक पर मिले कम्पनी ईचंार्ज ने उक्त राड्स कम्पनी की नही होना बताई। बहराहाल आज पूरे दिन टीम हर एंगिंल से इस गम्भीर मामले से छानती रही कारण भबिष्य में इसकी पुनरावृत्ति न हो जिससे कोई बडा हादसा हो जाये।

जब ईटेलीजेंसी टीम अपने हिसाब से  काम कर रही थी वहीं सुबह से कोतवाली चकरघिन्नी बनी उक्त घातक राड्स को बरामद करने करने में जुटी रही।

बताया गया कि उक्त मामले की पूरी जानकारी लखनऊ मुख्यालय को भेजी गई।

बतातें चलें कि 26 दिन पूर्व जानाकरी पर मीडिया हरकत में आया था एवं मौके से ली गई फोटो के अलावा उक्त राड्स कोतवाली की सुपुर्दगी में दी गई थी।

जहां मामले को गम्भीरता से लेते हुये एस.एस.आई. तेज बहादुर सिंह ने उसी समय राड्स सहित अपने अधिकारियो को अवगत कराया था लेकिन लगातार लापरवाही जारी रही।

बताया था कि यदि राड्स में डेटोनेटर लगा दिया जाये तो काफी बडे स्तर के एरिया में तबाही का मजंर दिखता।

उक्त राड्स भदरवारा के समीप  ग्राम हरपुरा के पास नहर रोड किनारे बने खेत में पडी मिली थी जिनकी अनुमानित संख्या पांच हजार से ज्यादा बताई गई थी।

यह भी बताया गया था कि यदि ग्रामीण उसे जलाने की कोशिश करते तो तेज लौ के साथ आग निकलती जिससे जनधन की हानि हो सकती थी।

राड्स पर मेड इन जिला ललितपुर उ.प्र. एवं स्पष्ट रुप से घातक एक्सप्लोसिव लिखा अकिंत था।मामला चर्चा का बिषय बना हैं।

रिपोर्ट- रवि अग्रवाल रठा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*