Check the settings100 साल पुराना गुरसराय का धनाई तालाब पर एक बार फिर संकट, पानी भरने वाली गूल गायब
Breaking News
100 साल पुराना गुरसराय का धनाई तालाब पर एक बार फिर संकट, पानी भरने वाली गूल गायब

100 साल पुराना गुरसराय का धनाई तालाब पर एक बार फिर संकट, पानी भरने वाली गूल गायब

गुरसरांय  . नगर की कभी शान माना जाने वाला धनाई तालाब अतिक्रमण की चपेट में गुम होने की कगार पर है। कस्बे के बीचों बीच बने तालाब में 30 साल पहले तक लबालब पानी हुआ करता था। इसे भरने के लिए नहर की गूल भी थी। जो गायब हो चुकी है। सरकारी आंकड़ों में दर्ज इसका क्षेत्रफल भी सिकुड़ गया। नगर पालिका परिषद ने इस पर गौर नहीं किया, क्षेत्रवासियों की मानें तो अब तालाब का करीब आधा हिस्सा कब्जों की जद में समा गया। कस्बे के धनाई तालाब के लबालब भरे होने पर आसपास के बड़े क्षेत्रफल में भूजल स्तर पर अच्छा रहा। इसके निर्माण का कोई ठोस डाटा तो नहीं है लेकिन क्षेत्रीय लोगों की मानें तो यह सौ साल से अधिक पुराना तालाब है। जो बारिश के अलावा भी गर्मियों में भरा रहता था। लोगों के नहाने से लेकर मवेशियों के लिए पीने का पानी यहां पर्याप्त था। इसमें पानी पहुंचाने के लिए नहर से निकली गूल भी इसी तालाब से जुड़ी हुई थी। अब उनके नामो निशान नहीं मिल रहे हैं।

सरकारी आंकड़ों में तालाब का रकबा अभी 0.9230 हैक्टेयर चढ़ा है। लेकिन हकीकत में तालाब का रकबा अब आधा ही बचा है। लोगोंे की मानें तो तालाब के ईद गिर्द अवैध कब्जा हो चुका है। वर्ष 2003 में कब्जामुक्त कराने के लिए कस्बे से ही मुहिम छेड़ी गई थी। आवाज लखनऊ तक पहुंची। तालाब की नापजोख भी हुई, लेकिन फिर सब ठंडे बस्ते में चला गया और तालाब की स्थिति जस की तस रही। लोगों का कहना है कि तालाब के कोने में प्राचीन कुआं भी बना हुआ था। जिसे चौपरा कुआं के नाम से जाना जाता था। लेकिन अब कुएं में मिट्टी भर गई है और कुआं भी सपाट हो गया है।

कब्जा मुक्त कराएं तालाब : नगर के भानू प्रताप सोनी ने कहा कि धनाई तालाब प्राचीन है। जिसका सीधा संपर्क नगर की घनी आबादी में लगे नलकूपों से है। कई साल से नगर की प्यास बुझा रहा है। इसे कब्जामुक्त कराकर जीर्णोद्धार कराया जाए। मई जून में हो सकती किल्लत: कस्बे के डॉ. हरीशंकर लक्षकार कहते है कि फरवरी में अभी पानी की बेहद किल्लत है। आगे मई जून में और दिक्कतें बढ़ सकती है। धनाई तालाब को ठीक किया जाए तो बड़ा श्रोत वर्षो के लिए होगा।

सूखे हैण्डपंप देंगे पानी:

धनाई तालाब का सौन्दर्यीकरण किया जा सकता है। इसकी जांच निष्पक्षता से हो। जहां भी कब्जा है उसे दूर करें। पानी के साधन बढ़ने से जल स्तर बढ़ेगा और सूखे हैण्डपंपों में भी पानी आना शुरू होगा। कब्जा हटा, खुदाई कराएं: वकील माधो शर्मा ने कहा, तालाब पर भू-माफिया का कब्जा है। कब्जे से मुक्त कराकर इसकी खुदाई होनी चाहिए, फिर पानी भरा जाना चाहिए। जिससे नगर की पेयजल समस्या का समाधान हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*