विजयवर्गीय ने विधायक बेटे और निगम अफसरों को बताया कच्चा खिलाड़ी, कहा- फिर ऐसा न हो



इंदौर.भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने निगम अफसरकी बैट से पिटाई करने के मामले में बेटे आकाश और अधिकारियों को नसीहत दी। कैलाश ने सोमवार को घटना कोदुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा, ‘मुझे लगता है कि दोनों पक्ष आकाश और निगम अधिकारी कच्चे खिलाड़ी हैं। ये बड़ा मुद्दा नहीं था, लेकिन इसे बड़ा बना दिया गया। इससे पहले भोपाल कोर्ट से जमानत मिलने के बाद आकाश रविवार को84 घंटे बाद जेल से बाहर आए थे।

उन्होंनेकहा, ”मैं पार्षद, मेयर और विभागीय मंत्री रहा हूं।हम बारिश के दौरान किसी भी आवासीय भवन को ध्वस्त नहीं करते। मुझे नहीं पता कि सरकार ने इस मामले में कोई आदेश जारी किया था, अगर ऐसा हुआ है, तो यह उनकी ओर से गलती है। जब किसी जर्जरइमारत को ध्वस्त करते हैं तो पहले वहां रहने वाले लोगों के लिए’धर्मशाला’ में व्यवस्था की जाती है। अधिकारियों को इतना अहंकारी नहीं होना चाहिए, उन्हें जनप्रतिनिधियों से बात करनी चाहिए। दोनों पक्ष इस बात को समझें ताकि दोबारा ऐसी घटना नहो।”

रविवार को जमानत पर बाहर आए थे आकाश

मारपीट के मामले में शनिवार को आकाश विजयवर्गीय को भोपाल की विशेष अदालत से जमानत मिली थी। इसके बाद वहरविवार को इंदौर जेल से रिहा हो गए। इस दौरानआकाश ने कहा था, ‘मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि मुझेदोबारा बल्लेबाजी करने का अवसर न दे। अब गांधीजी के दिखाए रास्ते पर चलने की कोशिश करूंगा।’

आकाश ने निगम अफसर को बैट से पीटा था

26 जून को निगम अधिकारी धीरेंद्र बायस टीम के साथ जर्जर मकान को ढहाने के लिए पहुंचे थे। इस दौरान आकाश वहां आए और टीम को बगैर कार्रवाई के लिए जाने के लिए कहा। लेकिन अधिकारियों ने कार्रवाई जारी रखी और आकाश ने बैट से अधिकारी की पिटाई की थी। शुक्रवार को बायस की तबीयत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Akash Vijayvargiya | Kailash Vijayvargiya defends Son Akash Vijayvargiya Who Beat UP Indore Nagar Nigam Civic Officials


Akash Vijayvargiya | Kailash Vijayvargiya defends Son Akash Vijayvargiya Who Beat UP Indore Nagar Nigam Civic Officials

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: