रूस से एंटी टैंक मिसाइल खरीदेगा भारत, 200 करोड़ रु. में डील हुई



नई दिल्ली. भारतरूस सेएंटी-टैंक मिसाइल ‘स्ट्रम अटाका’ खरीदेगा। इसके लिए दोनों देशों के बीच200 करोड़ रुपए का समझौता हुआ। मिसाइल को एमआई-35 हेलिकॉप्टर में लगायाजाएगा। सरकारी सूत्रों के मुताबिक, आपातकालीन नियमों के तहत रूस से एंटी-टैंक मिसाइल के लिए डील हुई है, जिसके अंतर्गत समझौते के तीन महीने के भीतर ही मिसाइलों की सप्लाईकी जाएगी।

सूत्रों के मुताबिक,एंटी मिसाइल कोयुद्धकएमआई-35 में लगाए जाने से दुश्मनों के टैंक और अन्य हथियारों से निपटनेकी क्षमता हासिल हो जाएगी। एमआई-35 भारतीय वायुसेना का अटैकिंग हेलिकॉप्टर है। इसे अमेरिका केअपाचे की जगह लाया गया।भारत लंबे समय से रूस से मिसाइलें खरीदना चाहता था। लेकिन, एक दशक से ज्यादा समय से यह अटका हुआ था।

सेनायुद्ध की स्थितिसे निपटने के लिए तैयार रहेगी

पिछले हफ्ते रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी मेंआपातकालीन प्रावधानों के तहत तीनों सेनाओं की ओर से की जाने वाली खरीदारी के बारे में एक प्रजेंटेशन हुआ था। इसमें आपातकालीन प्रावधानों का इस्तेमाल कर हथियार खरीदने में भारतीय वायुसेना आगे रही।

सरकार के सूत्र के मुताबिक, तुरंत युद्ध की स्थिति के मद्देनजर आपातकालीन प्रावधान के तहत वायुसेना ने कई देशों के साथस्पाइस 2000 स्टैंड ऑफ वेपन सिस्टम औरकई स्पेयर और एयर टू एयर मिसाइल की डील की है।

फ्रांस से भी मिसाइल खरीदेगा भारत

भारतीय सेना फ्रांस से स्पाइक एंटी टैंक मिसाइल खरीदने की प्रक्रिया में है। साथ ही रूस से एयर डिफेंस मिसाइल तत्काल प्रभाव से खरीदने जा रही है। सूत्र के मुताबिक, 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले के कुछ दिनों के बाद ही तीनों सेनाओं को आपातकालीन शक्तियां दी गई थीं। इसके तहत सेना अपने जरूरत के हिसाब से 300 करोड़ रुपए के हथियार खरीद सकती है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


एमआई-35 हेलिकॉप्टर।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: