Check the settingsपत्नी को पीटकर भगा दिया था मायके, बेटियों का हत्या
Breaking News
पत्नी को पीटकर भगा दिया था मायके, बेटियों का हत्या

पत्नी को पीटकर भगा दिया था मायके, बेटियों का हत्या

ललितपुर। निर्ममता के साथ अपनी ही बेटियों को मौत देने वाले ग्रामीण ने दीपावली से पहले पत्नी को बुरी तरह पीटा था। हालात इस कदर बिगड़े कि दिवाली त्योहार होने के बावजूद वह तीन बेटियों को ससुराल में छोड़कर दुधमुंही बच्ची के साथ अपने मायके चली गयी। इस बात को लेकर वह क्षुब्ध रहने लगा और नशे में घटना अंजाम दे डाला। .

कमरे में मिली शराब की बोतल और तेल का डिब्बा

थाना बानपुर अंतर्गत ग्राम पंचायत वीर में रहने वाला छेदामीलाल शराब का लती है। उसकी इस लत के कारण पत्नी, परिवार के अन्य सदस्यों और गांव वालों से आएदिन उसका झगड़ा होता था। गांव के बुजुर्ग मुन्ना कुशवाहा ने बताया कि शराब पीकर छेदामी सभी लोगों के साथ गाली गलौज किया करता था। इस कारण लोगों से उसका विवाद होता ही रहता था। बुजुर्गों ने कई बार उसको शराब छोड़ने की नसीहत दी लेकिन उसने किसी की बात नहीं मानी। दीपावली से पहले शराब की लत के कारण छेदामीलाल का उसकी पत्नी राजपति के बीच विवाद हो गया।.

कहासुनी के दौरान उसने पत्नी को बुरी तरह से पीटा था। बात बढ़ने पर पत्नी को घर से भगा दिया। परेशान पत्नी तीन बेटियों राधिका, अंजली और पुत्तू उर्फ विशाखा को ससुराल में छोड़कर और दुधमुंही बेटी को लेकर आपने मायके म.प्र स्थित दतिया जिले के बिलाई गांव चली गयी। घर में पत्नी के न होने से वह परेशान रहने लगा। ससुराल संपर्क करके उसने पत्नी को बुलाने का प्रयास किया लेकिन बात नहीं बन सकी। इससे वह और भी क्षुब्ध हो गया।.

इस बीच चचेरे भाई से भी उसकी कहासुनी हुई। पत्नी और भाई से विवाद के बाद वह और ज्यादा शराब पीने लगा लगा था। पुलिस अधीक्षक डॉक्टर ओपी सिंह के मुताबिक प्रथम दृष्टा ज्यादा शराब पीने और पत्नी से विवाद व मानसिक स्थिति ठीक न होना घटना की प्रमुख वजह है। हालांकि महरौनी कोतवाली प्रभारी संजय शुक्ला मामले की जांच कर रहे हैं। .

बेटियों को लेकर अस्पताल आया हत्यारोपित पिता: मानुषता को तार-तार और ममत्व का गला घोंटने वाले पिता की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। घटना को अंजाम देने के बाद भी आरोपित एम्बुलेंस से अपनी बेटियों के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और जिला अस्पताल पहुंचा।

यहां डॉक्टरों पुलिस अफसरों को घटना की जानकारी दी। जानकारी मिलते ही कोतवाली सदर पुलिस ने उसको हिरासत में लेकर बानपुर पुलिस की सुपुर्दगी में सौंप दिया।.

दीपावली से पहले छेदामीलाल का पत्नी से हुआ था विवाद . पत्नी दुधमुंही बच्ची को लेकर चली गई थी मायके

ललितपुर। बेटियों पर प्राणघातक हमले के बाद हैवान पिता छेदामीलाल ने खुद को भी नुकसान पहुंचाने का प्रयास किया। जिस बसुला से उसने बेटियों के सिर व अन्य अंगों पर वार किए उसी हथियार से उसने अपने सिर पर कई बार प्रहार किए थे।. शराब में नशे में वीभत्स हत्याकांड की कहानी घटनास्थल स्वयं बयां कर रहा था। जायजा लेते समय पुलिस आला अधिकारियों को कमरे के भीतर शराब की बोतल पड़ी मिली। वहीं मिट्टी के तेल का खाली डिब्बा पड़ा पाया गया। .

देर रात घर आने के बाद हत्यारोपित पिता ने डिब्बे और शीशियों से मिट्टी का तेल निकालकर घायल बेटियों को आग लगायी। फिर अपने घर के आंगन में रखे भूसे व पड़ोसियों की छत पर रखी लकड़ी को भी जलाया। इस दौरान आग की लपटे कम उठने पर उसने बाइक की टंकी से पेट्रोल निकाला और फिर उसको भी आग के हवाले कर दिया। आग की लपटे उठती देख ग्रामीण मौके पर पहुंच गए।.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*