Check the settingsआरुषि-हेमराज हत्याकांड पर HighCourt का फैसला
Breaking News
आरुषि-हेमराज हत्याकांड पर HighCourt का फैसला

आरुषि-हेमराज हत्याकांड पर HighCourt का फैसला

नोएडा। देश के इतिहास की सबसे बड़ी मर्डर मिस्ट्री आरुषि-हेमराज हत्याकांड के मामले में आज उत्तर प्रदेश का इलाहाबाद हाईकोर्ट फैसला सुनाएगा। आपको बता दें कि तलवार दंपति ने सीबीआई कोर्ट के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। जिसके बाद आज इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस मामले पर फैसले की सुनवाई रखी है। पूरे देश की नजर हाई प्रोफाइल मर्डर मिस्ट्री पर बनी हुई है ,और सभी लोग यह जानने के इच्छुक हैं कि आखिर इलाहाबाद हाईकोर्ट तलवार दंपत्ति को क्या फैसला सुनाता है?

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के नोएडा जलवायु विहार में मई 2008 में तलवार दंपत्ति के घर से उनकी ही बेटी आरुषि का शव मिला था। इस घटना के बाद सनसनी फैल गई थी । क्योंकि तलवार दंपत्ति नोएडा के सबसे बड़े डॉक्टर माने जाते हैं । उनकी बेटी का उनके ही घर में शव मिलने से यहां सनसनी फैल गई थी । आरुषि के पिता राजेश तलवार ने थाना पुलिस को इसकी तहरीर दी थी । आरुषि की हत्या को लेकर शक की सुई तलवार दंपत्ति के नौकर हेमराज पर घूम रही थी ,लेकिन 3 दिन बाद ही तलवार दंपत्ति के घर पर ही हेमराज का शव मिलने से यह मामला और हाई प्रोफाइल हो गया , उस समय यह मामला पुरे देश में छा गया और आखिरकार इस मामले में उत्तर प्रदेश की तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती ने इस मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी । नवंबर 2013 में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट गाजियाबाद ने आरुषि-हेमराज मर्डर केस में दोषी ठहराते हुए तलवार दंपत्ति राजेश और नूपुर तलवार आरुषि की मां और बाप को आजीवन कारावास की सजा सुना दी।

सीबीआई की गाजियाबाद स्थित स्पेशल कोर्ट द्वारा सुनाई गई इस सजा के बाद पूरे देश में एक बार फिर आरुषि-हेमराज हत्याकांड को लेकर चर्चाएं होने लगी। जिसके बाद सीबीआई कोर्ट द्वारा दोषी करार दिए गए तलवार दंपत्ति ने सीबीआई कोर्ट के खिलाफ इलाहाबाद हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। जिसको लेकर आज 12 अक्टूबर को इलाहाबाद हाई कोर्ट इस मामले में एक बार फिर फैसला सुनाने जा रहा है । इस हाई प्रोफाइल और देश के सबसे बड़ी मर्डर मिस्ट्री पर हाईकोर्ट के फैसला आने को लेकर सभी की निगाहें इस मामले टिकी हुई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*